त्रिभुवन सिंह हत्याकांड: पच्चीस हजार इनामियां बदमाश धनजी सिंह गिरफ्तार, पिस्टल, कारतूस के साथ स्कार्पियों बरामद



आकाश बरनवाल

सैदपुर/गाजीपुर। देवचंदपुर त्रिभुवन सिंह हत्याकांड में एक और पच्चीस हजार इनामी बदमाश को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसके पास से नाइन एमएम पिस्टल समेत कारतूस व स्कार्पियों बरामद  हुआ है।

बतादें, विगत 15 अक्टूबर को देवचंदपुर स्थित किसान सेवा केंद्र पर गांव निवासी हिस्ट्रीशीटर बदमाश करमवीर सिंह ने एक दर्जन साथियों संग त्रिभुवन सिंह की गोली मारकर हत्या कर फरार हो गए थे। पुलिस इस हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त समेत कुल 6 बदमाशों को गिरफ्तार कर चुकी है। अन्य नामजद सात बदमाशों की तलाश में जुटी हुई थी। 

शनिवार को क्राइम ब्रांच प्रभारी श्यामजी यादव, सैदपुर कोतवाल रविंद्र भूषण मौर्य व करंडा एसओ अजय पांडेय आपस में रणनीति बना रहे थे। इसी बीच सूचना मिली कि हत्या में शामिल 25 हजार इनामियां गैंगस्टर धनजी उर्फ सुंदरम सिंह पुत्र शरदचंद्र सिंह निवासी गोशंदेपुर करंडा नसीरपुर स्थित ढाबे के पास मौजूद है। इसके बाद तीनों संयुक्त टीमों ने भारी पुलिस बल के साथ उसे धर दबोचा और थाने लाए। वो बिना नंबर की स्कार्पियो से वहां मौजूद था। 

तलाशी में उसके पास से हत्या में प्रयुक्त प्रतिबंधित बोर 9 एमएम की पिस्टल व दो जिंदा कारतूस मिले। पुलिस ने बताया कि आरोपी धनजी की काफी समय से तलाश थी। उसके ऊपर गैंगस्टर समेत सिर्फ करंडा थाने में कुल 13 मुकदमे हैं, वहीं सैदपुर थाने में आर्म्स एक्ट व 7 सीएलए एक्ट समेत कुल 3 मुकदमे हैं। गैंगस्टर को

मिलाकर उस पर वर्तमान में कुल 16 मुकदमे हैं। गिरफ्तारी टीम में  क्राइम ब्रांच प्रभारी, सैदपुर कोतवाल, करंडा एसओ, निरीक्षक विश्वनाथ यादव, एसआई रामाश्रय, वंशबहादुर सिंह, नागेश्वर तिवारी, हेकां श्यामलाल सिंह, कां. राकेश, आयुष, राजेंद्र, धर्मेंद्र, आशीष, नागेंद्र, संजय, भाईलाल, राणा प्रताप, आशुतोष, रोहित व विनय रहे।




Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल