ग्राम पंचायत नूरपुर देहात में सामुदायिक शौचालय के निर्माण में हो रही मानकों की अनदेखी


सतेंद्र चौधरी


बिजनौर ग्राम पंचायत नूरपुर देहात में स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाये जा रहे सामुदायिक शौचालय के निर्माण में मानकों और सरकार द्वारा निर्धारित नक्शे की अनदेखी की जा रही है। ब्लाक सूत्रों के अनुसार सरकार द्वारा शौचालय निर्माण के लिए साढे चार लाख से छ लाख रुपये तक का बजट जारी किया है।

गौरतलब है कि पूर्व में केवल चयनित ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय निर्माण की योजना थी। अब ब्लाक की सभी 112 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय निर्माण के निर्देश दिये गये है। योजना के तहत शौचालय निर्माण सरकार द्वारा निर्धारित नक्शे और मानकों के अनुरुप बनाये जाने है। सामुदायिक शौचालयों का लाभ उन परिवारों को मिलेगा जिनके पास शौचालय निर्माण के लिए जगह की कमी है। इससे ग्राम सभाओं को स्वच्छ रखने के अभियान को गति भी मिलेगी। ब्लाक सूत्रों के अनुसार सरकार द्वारा निर्धारित नक्शें के अनुसार एक कमरानुमा स्थान को दो तीन भाग में विभाजित कर तीन सीट पुरुषों और तीन सीट महिलाओं के साथ ही एक इंगलिश सीट रैम्प के साथ विकलांगों के लिए स्थापित करते हुए शौचालय निर्माण करना है। लेकिन अधिकांश पंचायतों मंे मानकों को दरकिनार कर नक्शे के विपरीत शौचालयो का निर्माण कराया जा रहा है। ग्राम पंचायत नूरपुर देहात में गांव के बाहर सामुदायिक शौचालय बनाया जा रहा है। जिसका लाभ ग्रामीणों को मिलने की अपेक्षा से इंकार नही किया जा सकता। ग्रामीणों का कहना है कि गांव की आबादी के बीच शौचालय निर्माण होना चाहिए। इस संबंध में ग्राम सचिव रेखा देवी द्वारा काल रिसीव न किये जाने के कारण उनका पक्ष नही लिया जा सका। इसके अलावा ब्लाक की अधिकांश ग्राम पंचायतों में भी नक्शे और मानकों के विपरीत शौचालय निर्माण कराये जाने की शिकायतें है। ग्रामीणों ने आला अधिकारियों से शौचालय निर्माण में हो रही धांधलियों की भौगोलिक जाच कराये जाने की मांग की है।

Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार