बनारस के इस थाने में बाहुबली मुख्तार के गुर्गे मेराज ने किया समर्पण, गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दे रही थी पुलिस


जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। बाहुबली विधायक और माफिया मुख्तार गैंग जुड़े मेराज ने शनिवार को सरैया चौकी में आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पण के बाद पुलिस उसे जैतपुरा थाने ले जाकर पूछताछ शुरू की। आत्मसमर्पण के दौरान थाना प्रभारी मोहम्मद अकरम मौजूद रहे।


आपको बता दें कि फर्जी दस्तावेज लगाकर शस्त्र लाइसेंस लेने वाले मुख्तार के करीबी अशोक विहार कॉलोनी निवासी मेराज सहित उसके 20 करीबियों की गिरफ्तारी के लिए बीते 23 सितंबर को पुलिस ने दर्जनों जगहों पर छापेमारी की थी। इससे पहले नौ सितंबर को जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने उनकी पिस्टल का लाइसेंस निरस्त कर दिया था। यह कार्रवाई जैतपुरा थाने की पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर की गई थी। 


बीते दिनों असलहे को लेकर फर्जीवाड़ा पकड़ में आने पर इंस्पेक्टर शशिभूषण राय की तहरीर के आधार पर जैतपुरा थाने में मेराज के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इससे बाद मेराज फरार चल रहा था। जैतपुरा पुलिस के मुताबिक सेराज ने मेराज की भगाने में मदद की और उसे संरक्षण दिया था। सेराज प्रयागराज के सराय नाइक थाने पर सिपाही है। उसे इसी मामले में निलंबित भी किया जा चुका है।


Popular posts from this blog

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी

1.5 करोड़ लेकर पत्नी ने किया पति का सौदा, किया प्रेमिका के हवाले

मेरी करनी का फल है लिखकर महिला दरोगा ने फंदे पर झूलकर दी जान