बाहुबली विधायक मुख्तार के गैंग पर कसता जा रहा है शिकंजा, दस असलहों के लाइसेंस निलंबित


जनसंदेश न्यूज 
गाजीपुर। योगी सरकार के आपरेशन क्लीन के तहत लगातार अपराधियों पर पुलिस प्रशासन शिकंजा कसता जा रहा है। जिला प्रशासन बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के गैंग पर लगातार प्रहार करने में लगा है। गैंग की बेनामी संपतियों से लेकर अवैध तरीके से अर्जित किए भूमि पर कार्रवाई शुरू कर दिया है। वहीं उनके सदस्यों के  असलहों के लाइसेंस धारक पर भी एक्शन शुरू हो गया है। 


जिसके तहत जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह के आदेशानुसार शनिवार को दस असलहों के लाइसेंस रद्द कर दिया गया है। जिसमें मो आजम सिद्दीकी पुत्र प्यारे अली, मोहसिन सिद्दीकी पुत्र मो आजम सिद्दीकी, मो शादाब सिद्दीकी पुत्र डा. मो आजम सिद्दीकी, साकिब सिद्दीकी पुत्र मो आजम सिद्दीकी, निगार बेगम पत्नी मो आजम सिद्दीकी, कैसर जहाँ पत्नी मो साजिद और मो साजिद पुत्र प्यारे मुहम्मद प्यारे अली निवासी बरबरहना थाना कोतवाली गाजीपुर शामिल है। 


इन लोगों से छह पिस्टल, तीन रायफल और एक गन को निलंबित करते हुए शस्त्र लाइसेंसो को नियमानुसार थाने में दाखिल करा लिया गया है। पुलिस के मुताबिक मुख्तार के जिन खास करीबियों के सात शस्त्र लाइसेंस कुछ दिन पूर्व निलंबित कर असलहे जमा करा लिये गए थे उसी परिवार के 10 और असलहों के लाइसेंस निलंबित किये गए हैं। मुख्तार के करीबियों पर पुलिस कार्यवाही से मुख्तार गैंग में हड़कंप मचा हुआ है। 



 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल