अगर ऐसा हुआ तो रिटायर स्टॉफ सहित ग्राम प्रधान तक संभालेंगे विद्युत आपूर्ति का मोर्चा, डीएम ने बनाया ‘बैकअप प्लान’

विभाग के रिटायर स्टाफ से लेकर ग्राम प्रधान तक संभालेंगे विद्युत आपूर्ति का मोर्चा


जिलाधिकारी ने हड़ताल की आशंका देखते हुए तमाम अफसरों संग की तैयारी बैठक


आईआईटी-पॉलीटेक्निकपासआउट संग सिविल डिफेंस-होमगार्ड तक को जिम्मेदारी


बिजली का काम जानने वाले हर आम लोगों से लेकर जानकारों तक की लेंगे सहायता


गांवों में नलकूप के सुचारु संचालन के लिए रोटेशन में तैनात रहेंगे इलाकाई ग्रामीण



सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। बिजली कर्मियों की हड़ताल की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन चाक-चौबंद ‘बैकअप’ की तैयारी में जुट गया है ताकि विद्युत आपूर्ति बाधित न हो और जनजीवन सामान्य रहे। हड़ताल होने पर गांव से लेकर शहर तक बिजली विभाग के रिटायर कर्मचारी, आईआईटी-पॉलिटेक्निक पासआउट, होमगार्ड व सिविल डिफेंस से लेकर बिजली का काम जानने वालों समेत ग्राम प्रधान तक मोर्चा संभालेंगे। इस बारे में शुक्रवार जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने तैयारी बैठक कर अफसरों को आवश्यक निर्देश दिये।


डीएम कैंप कार्यालय सभागार में यह मीटिंग बुलायी गयी थी। श्री शर्मा ने पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के कर्मचारियों संभावित हड़ताल के दौरान उत्पन्न स्थिति से निबटने और कानून व्यवस्था बहाल रखने के बारे में सभी प्रमुख एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने बिजली का काम जानने वालों की लिस्ट तलब की जिससे उन व्यक्तियों की ड्यूटी लगायी जा सके। मुख्य कोषाधिकारी ने बताया कि विद्युत विभाग के कुल 2784 सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं।
इस पर जिलाधिकारी ने बीते पांच साल में रिटायर बिजलीकर्मियों सूची मांगी। साथ ही होमगार्ड और सिविल डिफेंस की टीमें बिजली उपकेंद्रों, विभागीय दफ्तरों और महत्वपूर्ण ट्रास्फार्मरों की सुरक्षा में तैनात करने के लिए लिस्ट उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने पंचायत विभाग को ग्रामीण इलाकों में ट्यूबवेल समेत क्षेत्रों में बिजली की सामान्य आपूर्ति जारी रखने के लिए ग्राम प्रधानों को 4-4 घंटे के रोटेशन में ग्रामीणों को तैयार करने को कहा।


“जिलाधिकारी ने गांवों में विद्युत लाइनमैन चिह्नित कर उनकी लिस्ट तैयार करने के निर्देश दिये। इसके अलावा आईटीआई-पॉलिटेक्निक पासआउट समेत तीनों तहसील क्षेत्र में ऐसे माइग्रेंट की सूची मुहैयाकराने को कहा जो बिजली का काम जानते हों।


श्री शर्मा ने सभी अस्पताल, जलकल व टेलीफोन एक्सचेंज सहित को कम से कम दो दिन के बैकअप में जनरेटर की व्यवस्था करने और उद्यमियों को अपने स्तर पर जनरेटर का प्रबंध करने को कहा। उन्होंने निर्देश दिये कि विद्युत आपूर्ति में बाधा की स्थिति में संबंधित एसडीएम, एसीएम और बीडीओ फोर्स के साथ मौके पर जाकर बिजली सप्लाई बहाल कराएंगे।



Popular posts from this blog

ब्लाक प्रमुख को सरेराह गोलियों से भूना, ताबड़तोड़ फायरिंग से इलाके में सनसनी

1.5 करोड़ लेकर पत्नी ने किया पति का सौदा, किया प्रेमिका के हवाले

मेरी करनी का फल है लिखकर महिला दरोगा ने फंदे पर झूलकर दी जान