आरटीआई कार्यकर्ता का आरोप-बनारस में बगैर फायर एनओसी के धड़ल्ले से चल रहे निजी अस्पताल, सीएमओ खामोश


जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। सामाजिक एवं आरटीआई कार्यकर्ता संजय कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर सीएमओ डॉ. वीवी सिंह व नोडल अधिकारी जंगबहादुर पटेल की शिकायत की है। उन्होंने शहर में रजिस्टेªशन और एनओसी के बगैर ही चिकित्सालयों व पैथोलॉजी सेंटर व डायनोस्टिक सेंटर के नवीनीकरण का आरोप लगाया और इसके लिए सीएमओ व नोडल अधिकारी को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने इस संबंध में जांच की मांग करते हुए कहा कि इस अनदेखी के कारण हजारों लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है।  




उन्होंने आरटीआई द्वारा प्राप्त सूचना के आधार पर बताया कि शहर के  दर्जनोंं हॉस्पिटल बिना एनओसी के ही संचालित हो रहे है। जबकि माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों के अनुसार समस्त चिकित्सा संस्थानों को प्रति वर्ष 30 अप्रैल तक उप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का प्राधिकार पत्र व अग्निशमन विभाग द्वारा अनापत्रित प्रमाण पत्र लेना अनिवार्य है। जिसके लिए चिकित्सा विभाग द्वारा बकायदा विज्ञापन भी निकाला जाता है। 


इसके बादजूद प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र के लगभग एक दर्जन से अधिक चिकित्सा संस्थानों ने ऐसा नहीं किया। इसके बावजूद सीएमओ पंजीकरण व नोडल अधिकारी द्वारा नवीनीकरण कर दिया गया। जो कि कोर्ट के आदेशों का सरेआम उलंघन है। सीएमओ व नोडल अधिकारी के इस कृत्य शहर के हजारों लोगों की जिंदगी खतरे में है। 



Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल