यूपी में 7 महीने बाद खुल गए स्कूल, क्लास 9 से 12 तक के छात्रों का थर्मल स्क्रीनिंग के बाद प्रवेश




लखनऊ। यूपी में सोमवार सुबह कक्षा 9 से लेकर 12 तक के छात्र के लिए स्कूल खुल गए हैं। राजधानी लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ, आगरा समेत सभी जिलों में सात महीने बाद सुबह स्कूलों के सामने चहल -पहल दिखी। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद छात्रों को अंदर के जाने की अनुमति दी गई।
लखनऊ में करीब 1020 स्कूल सोमवार सुबह खुल गए है। सदर स्थित लखनऊ मांटेसरी इंटर कॉलेज के गेट पर सुबह छात्रों को थर्मल स्क्रीनिंग के प्रवेश दिया जा रहा था। लंबे समय के बाद स्कूल आने बाद छात्र खुश थे। इसी तरह राजधानी के अन्य स्कूल में कोरोना गाइड लाइन का पालन कर छात्रों का स्कूल प्रवेश कराया जा रहा था। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि राजकीय स्कूलों के 51 प्रिंसिपल को इन स्कूलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके अलावा, जिला मजिस्ट्रेट की ओर से 106 अन्य अधिकारियों की निरीक्षण के लिए लगाया गया है। डीआईओएस ने बताया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिखकर सभी सीएचसी और पीएचसी को अलर्ट पर रखने को कहा गया है। इसके अलावा, सभी एसडीएम और तहसीलदार को अपने क्षेत्रों के स्कूलों के निरीक्षण को कहा गया है। शर्तों के साथ हापुड़ जिले के स्कूल सोमवार सुबह से खुल गए हैं। स्कूलों में कक्षा 9 से लेकर 12वीं तक की कक्षाएं चल रही हैं। कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है।
स्टूडेंट्स को परीक्षा कक्षों में दूर-दूर बैठाया गया है। डीआईओएस निशा अस्थाना ने बताया कि कोविड 19 की गाइडलाइन का पालन कराते हुए स्कूल खुल गए हैं। कक्षा 9 से लेकर 12वीं तक की कक्षाएं स्कूलों में चल रही हैं। कोरोना वायरस को लेकर स्कूलों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। सभी स्कूलों के कक्षों में स्टूडेंट्स को दूर-दूर बैठाया गया है। स्टूडेंट्स को कोई परेशानी नहीं हो, इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। 

Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार