गांवों पहुंचे एसडीएम व तसहसीलदार, लापरवाह 12 बीएलओ के खिलाफ एफआईआर का आदेश

एसडीएम व तहसीलदार ने गांवों में जाकर किया भौतिक सत्यापन



रोशन जायसवाल

बलिया। सदर तहसील क्षेत्र के विभिन्न ब्लाकों में तैनात बीएलओ की लापरवाही और प्रधान से मिलीभगत की शिकायतों को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए एसडीएम राजेश यादव व सदर तहसीलदार गुलाब चंद्रा ने अलग-अलग ब्लाकों के बीएलओ के कार्यों का गांव में जाकर भौतिक सत्यापन किया। इस दौरान करीब दर्जनभर से अधिक बीएलओ अपने ड्यूटी के प्रति लापरवाह और गायब मिले। तहसीलदार ने बताया कि ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरतने वाले 12 बीएलओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज करायी जाएगी। एसडीएम और तहसीलदार की कार्रवाई से बीएलओ में हड़कंप मचा हुआ है। 

बेलहरी के बघौंच गांव में तहसीलदार ने पाया कि बीएलओ कई दिनों से बिना सूचना के ही गायब है। दुबहर ब्लाक के बीएलओ रामअशीष के खिलाफ प्रधान से मिलीभगत का आरोप लगाया गया। इसी तरह से शंकरपुर में नीलम तिवारी, थम्हनपुरा में बीएलओ हृदयानंद, उषा गुप्ता, सिंधू चौरसिया, सोहांव की पलिया खास में बीएलओ इंदू यादव, तेतारपुर की सीता राय, करंजामाफी की पुष्पा देवी, सुरहीं की आयशा देवी, व देहलूपुर में उषा यादव द्वारा कार्य में लापरवाही बरतने व गायब रहने का आरोप जांच में सही पाया गया। 

वही, बघौंच में बीएलओ दिलीप कुमार सिंह पर आरोप है कि ग्राम प्रधान के दुराभिसंधि में आकर गांव से कई दिनों से गायब हैं। आरोप लगाया गया कि इस गांव में ग्राम प्रधान के पक्ष का ही नाम बढ़ाया गया है, जबकि दूसरे पक्ष का एक भी नाम नहीं बढ़ सका है। डीएम के निर्देश पर एसडीएम सदर राजेश यादव सोहांव व गड़वार ब्लाक व सदर तहसीलदार गुलाब चंद्रा ने बेलहरी, हनुमानगंज और दुबहर का गांव में जाकर भैतिक सत्यापन किया। इस दौरान बताया गया कि एक ग्राम सभा का बीएलओ बिना किसी सूचना के ही पटना चला गया है। कई दिनों से गांव में नहीं आ रहा है। जिसके चलते गांव में निर्वाचन सूची में नाम जोड़ना, सुधारना व काटना संभव नहीं है। उपजिलाधिकारी राजेश यादव ने सदर तहसील क्षेत्र के समस्त बीएलओ को चेताया है कि सघन भौतिक सत्यापन में जिसके खिलाफ शिकायत मिली, उसके खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।  



Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल