योगी सरकार के इस प्रपोजल के खिलाफ 29 सितंबर को आंदोलन का आगाज करेगी यूपी कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति 

संविदा पर भर्ती प्रस्ताव के खिलाफ केंद्रीय संगठनों को समर्थन


प्रपोजल नियमावली के तौर पर जारी होने के तीसरे दिन जिला मुख्यालयों पर 
जलाएंगे पुतला



सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। उत्तर प्रदेश कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति ने संविदा पर सरकारी भर्ती के प्रस्ताव के खिलाफ आंदोलन का एलान किया है। विभिन्न मुद्दों को लेकर पहले से ही संघर्षरत समिति ने संविदा पर पांच साल के लिए नौकरी के प्रपोजल के विरुद्ध गठित राज्य कर्मियों के संयुक्त मंच के अलग यह घोषणा की है। जिसके तहत समिति के आंदोलन की शुरुआत 29 सितंबर को भोजवानकाश के दौरान जनजागरण सभा से करेंगे।


समिति के प्रांतीय नेतृत्व की ओर से शनिवार को लिए गये फैसले के मुताबिक पांच साल के लिए संविदा आधारित सरकारी नौकरी के प्रस्ताव के खिलाफ व्याप्क स्तर पर अभियान चलाया जाएगा। साथ ही कहा गया कि यह प्रपोजल को नियमावली के तौर पर जिस दिन सरकार जारी करेगी, उसके तीसरे दिन प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर शासनादेश का पुतला दहन करेंगे।
वहीं, 29 सितंबर को प्रत्येक कार्यालय और विद्यालयों में लंच के दौरान संबंधित मुद्दों को लेकर विरोध एवं जनजागरण सभा होगी। साथ ही मुख्यमंत्री के नाम जिलाधिकारी को ज्ञापन देंगे। उसके बाद समन्वय समिति से जुड़े विभिन्न संगठनों के प्रांतीय अध्यक्ष एवं महामंत्री लखनऊ में बैठक कर आंदोलन की आगामी रणनीति बनाएंगे।


इसके अलावा संगठनों की जनपद इकाईयों को सक्रिय किया जाएगा। वरिष्ठ कर्मचारी नेता राजेश कुमार पांडेय ने उत्तर प्रदेश कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति की ओर से लिए गये इस निर्णय की जानकारी देते हुए बताया कि आगामी 23 सितंबर को केंद्रीय संगठनों के आह्वान पर आयोजित कार्यक्रम का समर्थन किया है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल