तीन बेटियों ने नहीं दिया मां को सहारा, रोड किनारे पड़े-पड़े दवा के अभाव में तोड़ दिया दम



जनसंदेश न्यूज़
जसरा/प्रयागराज। कई दिनों से जसरा में सड़क के किनारे पड़ी एक बुजुर्ग बीमार महिला की मंगलवार की रात भूख प्यास और दवा के अभाव में मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया है। 


प्राप्त जानकारी के अनुसार जसरा नई बाजार निवासिनी सोनकली जायसवाल के परिवारीजनों ने आपसी मनमुटाव होने के कारण अपना घर बहुत पहले ही बेच दिया था। जिसके चलते घर में रह रही सोनकली को घर छोड़कर जसरा बाजार में ही वर्षों किराए के मकान में रहना पड़ा। आखिरकार बुढ़ापे में बीमारी आदि होने के बाद सोनकली की छोटी बेटी अपनी मां को साथ में ले गई किंतु कुछ दिन रखने के बाद उसने उसे वापस जसरा भेज दिया। जहां सोनकली पूरी तरह बीमारी से जर्जर हालत में हो चुकी थी। ऐसी सूरत में वह जसरा रेलवे क्रॉसिंग मोड़ पर सड़क के किनारे पड़ी रहती थी। यहां पर अड़ोस पड़ोस के लोगों द्वारा उसे जब खाना दे दिया जाता था तो वह किसी तरह अपना भूख शांत कर लेती थी।


इधर कई दिनों से सोनकली की तबीयत अचानक बिगड़ गई और सड़क के किनारे पड़े पड़े दवा के अभाव में उसकी मौत हो गई। सुबह होने पर आस पास के लोगों ने चौकी इंचार्ज गौहनिया शिव प्रताप सिंह को सूचना दिया। मौके पर पुलिस ने महिला का शव कब्जे में ले करके पोस्टमार्टम के लिए प्रयागराज भेज दिया है। 


तीनों बेटियों ने नहीं दिया बुढ़ापे में सहारा
सोनकली जायसवाल के तीन बेटियां थीं। तीनों बेटियों की शादी करके वह राहत की सांस ली, लेकिन तीनों बेटियों ने अपनी मां का बुढ़ापे की सहारा नहीं बनी। इस तरह से भूख प्यास से परेशान वह दवा के अभाव में बीती रात दम तोड़ दिया।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल