तीन बार विधायक रहे निर्वेद्र मिश्रा की मारपीट में मौत, बेटा भी हुआ अधमरा, जमीन पर कब्जे को लेकर बढ़ा विवाद


जनसंदेश न्यूज़
लखनऊ। प्रदेश में कानून व्यवस्था की हालत दिन पर दिन बिगड़ती जा रही है। तमाम प्रयासों के बाद भी आये दिन क्राइम बढ़ता ही जा रहा है। यूपी के लखीमपुरी में जमीन विवाद को लेकर हुए मारपीट में तीन बार के विधायक रहे निर्वेंद्र कुमार मिश्रा को पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया गया। यहीं उनके बेटे को इतना पीटा गया कि वें अधमरा हो गया। 


लखीमपुर के थाना संपूर्णानगर क्षेत्र के त्रिकौलिया पढ़ुवा में पलिया का और पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना का पक्ष आपस में भिड़ गया। जमीन पर कब्जेदारी के विवाद के दौरान जमकर मारपीट भी हुई, जिसमें पूर्व विधायक के साथ भी धक्का-मुक्की हुई। इसी दौरान उनकी हालत बिगड़ी। उन्हें अस्पताल ले जाया जा रहा था रास्ते में ही उनकी मौत हो गई।


पुलिस के अनुसार पूर्व विधायक को हार्टअटैक पड़ा। इससे उनकी मौत हो गई। वहीं पूर्व विधायक के पुत्र ने उनकी पीट कर हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। सूचना पाकर पहुंची पुलिस पड़ताल में जुट गई है। इस मामले में पुलिस पर दबंगों से मिलीभगत का आरोप है। लखीमपुर खीरी की निघासन विधानसभा से निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना तीन बार के विधायक रहे है।


इस संबंध में एसपी सतेंद्र कुमार ने बताया कि निर्वेन्द्र उर्फ मुन्ना और समीर गुप्ता पुत्र किशन लाल गुप्ता व राधेश्याम गुप्ता के बीच विवादित जमीन के कब्जे को लेकर वाद विवाद हुआ था। विवाद के दौरान निर्वेन्द्र मिश्रा गिर गए थे, उन्हें सीएचसी अस्पताल ले जाया गया। जहां उनकी मौत हो गई। विवादित जमीन समीर गुप्ता के नाम से थी, जिसके कब्जे को लेकर निर्वेन्द्र मिश्रा द्वारा विरोध किया जा रहा था। इससे पहले पूर्व विधायक और उनके बेटे को शांतिभंग की कार्रवाई भी हो चुकी है। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल