तकनीकी खराबी नहीं, आपकी नेट स्पीड स्लो होने के लिए ‘डीजल गैंग’ है जिम्मेदार,जानिए कैसे?

मोबाइल उपभोक्ताओं में आक्रोश

जनसंदेश न्यूज
अतरौलिया/आजमगढ़। स्थानीय क्षेत्र में डीजल चोर गिरोह सक्रिय है। बिजली कटते ही एकाएक नेट की स्पीड ‘स्लो’ हो जाती है। इसे लेकर मोबाइल उपभोक्ताओं में आक्रोश है। आप सोचते होंगे कि कंपनी से कोई गड़बड़ी हुई है, इसलिए नेट की स्पीड स्लो है, लेकिन आपकी ये सोच गलत है, दरअसल धोखा कंपनी नहीं बल्कि डीजल गैंग आपको दे रही है। पूरे जनपद में इस समय ‘डीजल गैंग’ इस कदर सक्रिय है कि नेट की स्पीड के साथ खुलेआम खिलवाड़ कर आम आदमी को जमकर चूना लगा रही है।


जानबूझकर खराब की जाती है टावर की बैट्री 
गौरतलब हो कि बिजली कटने के साथ ही नेट स्पीड स्लो होने के पीछे सबसे बड़ी वजह टावर में लगी बैट्री होती है, जिसे जान बूझकर टेक्निशियन द्वारा खराब कर दिया जाता है। चूंकि डीजल की आपूर्ति की जिम्मेदारी लोकल कोई ठेकेदार लेते हैं, जिसके साथ टेक्निशियन मिली भगत कर बिजली कटने के साथ ही मनमाना डीजल जलाकर जैसे-तैसे टावर को पुनः चालू किया जाता है। कभी-कभी तो टावर बिना चालू किए ही उस समय भी डीजल से टावर चलाने की बात बताकर पैसा ले लिया जाता है और इस पैसों का हिस्सेदार ठेकेदार से लेकर टेक्निशियन व ऊपर के अधिकारी तक होते हैं।


शिकायत करें तो किसके पास
नेट की स्पीड स्लो है या फिर कॉल करने से संबंधित कोई भी शिकायत, इसके लिए हर कंपनी ने टोल फ्री नंबर तो जरूर जारी किया है, लेकिन उसमें लगाने पर सिर्फ बिजी-बिजी ही सुनने को मिलती है। ऐसे में न शिकायत लोग आसानी से कंपनी तक पहुंचा पाते हैं और न ही धरातल पर। लोग अब मोबाइल और डेटा पर ही आत्मनिर्भर हो चुके है, नेट पैक एक आवश्यकता हो गया है। लिहाजा अतरौलिया और आस पास में सालों से चला आ रहा यह खेल आज भी बदस्तूर जारी है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल