शौचालय न आवास, कैसे हो गांव का विकास? दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर परिवार



जनसंदेश न्यूज़
लालापुर/प्रयागराज। जी हाँ विकासखंड शंकरगढ़ के अंतर्गत स्थित लालापुर गांव की एक पात्र गरीब असहाय दंपति प्रधानमंत्री आवास और शौचालय योजना की मांग के लिए साल भर से दर-दर भटक रहे है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि ग्राम प्रधान और संबंधित ग्राम विकास के विभागों के अनेकों बार अर्जी दिए जाने के बाद भी पात्र लाभार्थी को आज तक शौचालय और आवास नहीं नसीब हो सका।



शंकरगढ़ ब्लॉक के लालापुर निवासी तारा देवी पति स्वर्गीय राममूरत भूमिहीन एवं बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखते है। आजिविका के लिए मेहनत-मजदूरी करके ही पेट पालते है। लंबे समय से कच्चे घर मकान में बेटे और बहु और छोटी-छोटी बच्ची के साथ गुजारा करने को विवश है। वर्षों पूर्व से इनका कच्चा मकान जर्जर अवस्था में हो गया है। पिछले वर्ष की बारिश में मकान का पुरा हिस्सा भी धराशाई हो गया है। जिससे इन दिनों उनका घर में खंडहर में भी तब्दील हो गया है। जिनकी शिकायत पात्र लाभार्थी की ओर से लेखपाल से की गई थी। लेखपाल ने मौके पर जांच भी किया था और अपनी कार्रवाई भी की थी, लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी लाभार्थी को आवास योजना नहीं मिला। खंड विकास अधिकारी अलावा शासन स्तर पर भी इसकी शिकायत की गई है। 


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल