पूर्व प्रधान की बल्लम मारकर बेरहमी पूर्वक हत्या, मची सनसनी, सीसीटीवी फुटेज...

सीसीटीवी फुटेज में किसी से बात करते दिखे पूर्व प्रधान


भाई के तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज 

जनसंदेश न्यूज़
बहरियाबाद/गाजीपुर। स्थानीय कस्बा चकफरीद गांव निवासी पूर्व कार्यवाहक प्रधान  की रविवार की भोर में बल्लम मार कर हत्या कर दी गई। एक मूक-बधिर युवक ने जब देखा तो बाजार में जाकर इशारे से हत्या की बात लोगों को बताई। देखते ही देखते वहां भीड़ जमा हो गई। लोगों ने शव को पहचान कर उनके परिजनों को सूचना दी तथा पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के भाई की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर मामले की छानबीन में जुट गई। 


कस्बा के चकफरीद निवासी नूर मोहम्मद  (52) वर्ष प्रतिदिन की भांति भोर में लगभग साढ़े तीन बजे नदी की तरफ टहलने के लिए घर से निकले थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार चार बजे से पहले घर से उत्तर दिशा में गये पुनः लौट कर नदी की तरफ गए। अभी चौक पर पहुंचे ही थे कि किसी का फोन आया और पुनः वापस लौट गए। सीसीटीवी फुटेज में एक निजी चिकित्सक की डिस्पेन्सरी के पास मोबाइल से किसी से बात करते दिखाई दे रहे हैं। अलसुबह गांव का ही एक गूंगा युवक चकफरीद स्थित हौदवा पोखरा के भीटे पर स्थित कब्रिस्तान की ओर गया तो मृतक को औंधे मुंह गिरा देखा तो बाजार में जाकर इशारे से लोगों को बताया। पहचान होने पर लोगों ने घर वालों को सूचना दी। बदहवास परिजन रोते-बिलखते घटनास्थल पर पहुंचे। 



देखते-देखते वहां काफी संख्या में ग्रामीण जुट गए। नूर मुहम्मद के पेट में चोट के गंभीर निशान थे। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष रामनेवास क्षेत्राधिकारी महिपाल पाठक पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंच गए। बाद में एसपी ग्रामीण गोपनाथ सोनी पहुंचे। घटना के संबंध में जानकारी ली। मृतक के भाई पीर मोहम्मद की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर छानबीन शुरु कर दी गई है। दिन में लगभग 12 बजे पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया। मातहतों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए जल्द से जल्द घटना का पर्दाफाश करने का निर्देश दिया। 


आपको बता दें कि नूर मुहम्मद सन् 1995 में अपनी ग्राम पंचायत के सदस्य चुने गए थे। चुनाव के एक वर्ष बाद महिला ग्राम प्रधान आरती सहाय का किन्हीं कारणों से निधन हो गया था। इसके बाद नूर मुहम्मद कार्यवाहक ग्राम प्रधान बनाए गए थे। इधर कुछ वर्षों से वह लकड़ी का व्यापार करते थे। मृतक के कोई संतान नहीं है। वह अपने साढ़ू की बेटी को गोद लिए थे। एस पी ग्रामीण गोपीनाथ सोनी ने कहा कि शीघ्र ही घटना को अंजाम देने वाले अज्ञात व्यक्ति की पहचान कर विधिक कार्यवाही की जाएगी। सी ओ सैदपुर, स्वाट टीम, के साथ ही सर्विलांस टीम को लगाया गया है।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल