पंखा बना काल: करंट की चपेट में आने से दो की मौत, परिजनों में कोहराम



जनसंदेश न्यूज
मीरजापुर। जनपद में पंखे में उतरे करंट की चपेट में आने से विभिन्न थाना क्षेत्र में दो की मौत हो गई। जिसमें पहली घटना विंध्याचल थाना क्षेत्र के बिरोही ग्राम में बीती रात विद्युत पंखे में उतरे करेंट से किसान की मौत हो गई। नाती को बचाने के चक्कर मे दादा के प्राण-पखेरू उड़ गए। गांव निवासी उमेश सिंह 55 नाती प्रत्युष के साथ अपने कमरे मे सो रहे थे। पास ही फर्राटा पंखा चल रहा था। रात्रि दस बजे नाती के रोने की आवाज सुनकर उनकी नींद खुली तो देखा कि नाती पंखे की ओर जा रहा था। बगल करने के चक्कर मे जब उन्होंने पंखे को हाथ लगाया तो करेंट की चपेट मे आ जाने से उनकी चीख निकल गई।


आनन फानन में परिजन मंडलीय अस्पताल ले गए। जहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। वह घर पर ही रहकर भी खेती किसानी करते थे। पति की दुखद मौत को लेकर पत्नी इंद्रावती व परिजन रोने विलखने लगे। मृतक भाजपा मंडल अध्यक्ष के बड़े भाई थे। उनकी मौत की खबर फैलते ही गांव में माहौल गमगीन हो गया। घर पर काफी संख्या में लोग जुट गए। 


वहीं दूसरी घटना मड़िहान थाना क्षेत्र के ककरद गांव में करेन्ट की चपेट में आने से 35 वर्षीय युवक की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जाता है कि रामजी कोल पुत्र इंदर उम्र 35 वर्ष मंगलवार को देर रात नंगे पांव सोते समय पंखे की दिशा को अपने तरफ घुमा रहा था कि पंखे में उतरे करेन्ट के चपेट में आने से युवक गम्भीर रुप से घायल हो गया। परिजन इलाज हेतु आनन-फानन में लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पटेहरा लेकर गये, जहां देखते ही डॉ0 वाजीद जमील ने मृत घोषित कर दिया। मृतक को दो पुत्र एवं दो पुत्री हैं। घटना के बाद पत्नी शांति देवी का रो-रो कर बुरा हाल है।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल