मुख्तार के करीबी परवेज को पुलिस ने दबोचा, दो दर्जन संगीन मामलों में है वांछित 

मेराज का भांजा परवेज मुख्तार अंसारी के लिए करता था काम 


दबंगई के बल पर मकान कब्जा कराना, वसूली समेत कई अवैध धंधों में है लिप्त 



रवि प्रकाश सिंह
वाराणसी। माफिया मुख्तार अंसारी का सहयोगी मेराज का भांजा परेवज अहमद को कैंट पुलिस ने धर दबोचा। गैंगस्टर के तहत हो रही इस कार्रवाई में संपत्ति जब्ती के साथ वांछितों को गिरफ्तार करने के लिए लगातार एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी की देखरेख में दबिश और जब्ती की कार्रवाई जारी है। परवेज के उपर वाराणसी कैंट और जौनपुर  थाने में दो दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। 


शनिवार को जहां फरार मेराज अहमद (मुख्तार अंसारी का सहयोगी) और शरणदाता उसके भाई सिराज अहमद वाराणसी पुलिस ने दबोचा था। वहीं रविवार को भांजे परवेज अहमद की गिरफ्तारी हुई। परवेज अहमद ने पूछताछ में बताया कि मेराज अहमद के नाते वह भी मुख्तार अंसारी गैंग से जुड़ा था तथा मेराज के नाम पर अवैध वसूली व लोगों के मकान कब्जा करने का काम करता था। परवेज थाना कैंट का मजारिया हिस्ट्रीशीटर है तथा उसके विरूद्ध जनपद वाराणसी व जौनपुर के अलग-अलग थानों पर विभिन्न अभियोग पंजीकृत है। जिसमें गुंडा एक्ट, आर्म्स एक्ट, वसूल समेत कई संगीन अपराध हैं।


एसपी सिटी ने बताया कि वाराणसी पुलिस की रिपोर्ट पर जिलाधिकारी वाराणसी ने मेराज अहमद से संबंधित आठ शस्त्र लाइसेंस निलम्बित कर दिए गए हैं तथा छह शस्त्र जब्त करा लिए गए हैं। गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम प्रभारी निरीक्षक राकेश कुमार सिंह, इन्द्रकान्त मिश्रा, अशोक कुमार चौकी प्रभारी नदेसर, दीन दयाल पाण्डेय चौकी प्रभारी कचहरी आदि शामिल रहे। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल