कृषि विधेयक के मुद्दे पर दी सरकार के छह मंत्रियों की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले राजनाथ-दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक था सबकुछ


 


नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह  ने कहा कि कृषि विधेयकों को लेकर किसानों को गुमराह किया गया है, जबकि इससे किसानों की आय दुगुनी होगी। उन्होंने इन विधेयकों को लेकर राज्यसभा में अभूतपूर्व हंगामे पर कहा कि आज जो हुआ उससे संसदीय गरिमा को गहरी चोट पहुंची है। उन्होंने कहा कि मैं नहीं मानता कि सरकार कभी किसानों को नुकसान पहुंचाएगी। ज्ञात रहे कि रविवार को राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे के बीच कृषि से जुड़े दो विधेयक ध्वनि मत से पारित हो गए। इस दौरान विपक्षी सांसदों ने विधेयक पर वोटिंग के लिए जमकर हंगामा किया था। कृषि विधेयक को लेकर रविवार को केंद्र सरकार के 6 मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की।


इस दौरान राजनाथ सिंह ने कहा कि इस बिल को लेकर किसानों को गुमराह किया गया है, जबकि इससे किसानों की आय दुगुनी होगी। एमएसपी को लेकर किसानों के गुस्से पर राजनाथ सिंह ने कहा, मैं दो टूक शब्दों में तहे दिल से देश के किसान भाइयो को संदेश देना चाहता हूं कि किसी भी सूरत में एमएसपी खत्म नहीं होगी। एपीएमसी भी किसी भी सूरत में खत्म नहीं होगी। मैं किसान भाईयों को आश्वासन देना चाहता हूं। मैं भी किसान हूं। राजनाथ सिंह ने रविवार को राज्य सभा में विपक्षी सांसदों द्वारा किए गए हंगामे पर कहा कि आज जो हुआ उससे संसदीय गरिमा को गहरी चोट पहुंची है। संसद में पहले ऐसा कभी नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि उप सभापति के आसन पर चढ़ना, रूल बुक फाड़ना गलत है। एक बार को मान लिया जाए कि उनकी बात नहीं सुनी गई, लेकिन क्या स्वस्थ्य संसदीय लोकतंत्र में ये सब कुछ होना चाहिए? माइक तोड़ देना चाहिए। डिप्टी चेयरमैन के आसन पर चढ़ जाना चाहिए?'


राजनाथ सिंह से जब पूछा गया कि कृषि बिल पर सरकार अपने सहयोगियों को ही नहीं समझा पा रही है तो किसानों को क्या समझाएगी। उनके गठबंधन की मंत्री ने इस्तीफा दे दिया है। इस पर राजनाथ बोले, समझाने की कोशिश सबको हो रही है, हर व्यक्ति के फैसले लेने के पीछे कुछ राजनीति कारण होते हैं।  उन्होंने क्यों ये फैसला लिया इस मैं कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल