खुशखबरी: जिले के इन-इन गांवों में जल्द ही मिलेंगे 83 नए कोटेदार, इन्हें मिलेगी वरीयता



जनसंदेश न्यूज़
बलिया। जनपद में रिक्त चल रही सार्वजनिक वितरण प्रणाली की उचित दर की 83 दुकानों को जल्द ही कोटेदार मिल जाएंगे। इसके लिए प्रशासन ने सितंबर माह में पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। आयुक्त खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा जारी शासनादेश के अनुपालन में जारी जिला पूर्ति अधिकारी के आदेश में यह स्पष्ट किया गया है कि रिक्त दुकानों की नियुक्तियों में ग्राम्य विकास विभाग के अंतर्गत कार्यरत स्वयं सहायता समूहों को प्रथम वरीयता दी जाएगी। 
जनपद में उपलब्ध उचित दर की दुकानों के उपलब्ध ऑनलाइन रिपोर्ट की समीक्षा के आधार पर यह पाया गया है कि जिले में कुल 1332 दुकानों के सापेक्ष 83 उचित दर की दुकानें रिक्त चल रहीं हैं। इन दुकानों को निर्धारित व्यवस्था के अंतर्गत विशेष अभियान चलाकर रिक्तियों को समाप्त किया जाना है। इसके अलावा 37 उचित दर की दुकानें निलंबित हैं जिन्हें तत्काल प्रभाव से निस्तारित करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं।


इन्हें मिलेगी वरीयता
इस संबंध में समस्त उपजिलाधिकारी व खंड विकास अधिकारी को निर्देशित भी किया जा चुका है। यही नहीं जिन दुकानों पर न्यायालय से कोई स्थगन आदेश न हो उन्हें भी शासनादेश के तहत आरक्षण के अनुसार एक पखवारे के भीतर खुली बैठक में नए उचित दर विक्रेता के संबंध में प्रस्ताव प्राप्त कर संबंधित अधिकारी को प्रेषित करने को कहा गया है। आदेश में यह भी कहा गया है कि दुकानों के आवंटन में स्वयं सहायता समूहों को प्रथम वरीयता देने के साथ मिट्टी तेल के फुटकर विक्रेता जिनका लाइसेंस खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा 22 मार्च 2018 को निरस्त कर दिए गए थे, उन्हें वरीयता प्रदान की जाए। इस आदेश के बाद कोटे की दुकानों के चयन को लेकर हलचल शुरू हो गई है।


जिले में ये हैं रिक्त कोटे की दुकानें


रिक्त दुकानों में गड़वार ब्लाक की सात जिसमें जिगनी (जिगनहरा), आसन (1) व आसन (2) कोडरा, कोटवा, नारायन पाली, अमडरिया शामिल है। वहीं दुबहड़ ब्लाक की नौ दुकानें माधोपुर, पटखौली, शिवपुर दियर नंबरी, सुरेमनपुर उर्फ पीपरपाती, छपरा, विशनपुरा, दुबहड़, संवरुबांध, टघरौली हैं। जबकि बेलहरी ब्लाक की पांच दुकानों में बिगहीं, जवहीं, भरसौता, उदवंत छपरा व पुरास, सोहांव ब्लाक की चार कारो, तेतारपुर, नरही, दुलारपुर, हनुमानगंज ब्लाक की छह छोड़हर, थम्हनपुरा, कटरिया, रामपुर महावल, चेरुईया, हैबतपुर, नवानगर ब्लाक की दो सिसोटार व कुंडीडीह, पंदह ब्लाक की तीन पकड़ी, सहुलाई, पूर, मनियर ब्लाक की तीन धसका, रिगवन व मानिकपुर में दकानों का चयन होना है। इसके अलावा बेरुआरबारी में नरायनपुर व कैथवली, बांसडीह ब्लाक के पिडहरा, दुहिमुसी, सरांक, बंकवा, चांदपुर व बिजलीपुर, रेवती ब्लाक के आसमानपुर, रामपुर मसरीब, छपरा सारिव व मानसिंह छपरा तथा मुरलीछपरा ब्लाक में कोडहरा नौबरार, श्रीपतपुर व सुकरौली, बैरिया ब्लाक में चकगिरधर, दुर्जनपुर (1) व दुर्जनपुर (2), नवकागांव (1), नवकागांव (2), श्रीकांतपुर, बैरिया, विशुनपुरा सहित रसड़ा ब्लाक में कामशीपुर, परसिया, कोप, सिसवार खुर्द, भरतपुर उर्फ माधोपुर में दुकान का चयन होना है। वहीं चिलकहर ब्लाक के गौरा, खलीलपुर, कदरा, नगरा ब्लाक में सोनाडीह, परसिया, गौवापार, करनी, हब्सापुर, बराइच, जमुआ खामपुर, बराडीह लवाईपट्टी, ककरी, सिकंदरपुर, पालचंद्रहा व खानपुर नवादा गांव के अलावा सीयर ब्लाक के उभांव गांव की राशन दुकान का चयन किया जाना है।



क्या बोले जिलापूर्ति अधिकारी
इस संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी कृष्ण गोपाल पाण्डेय ने कहा कि रिक्त चल रहे सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों के चयन हेतु जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है। इसी माह में इसे पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। दुकान चयन में स्वयं सहायता समूह व आरक्षण को प्राथमिकता देनी है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल