डिप्टी कलेक्टर ने डीएम के खिलाफ पत्नी के साथ दिया धरना तो हो गए निलंबित


डीएम और एसडीएम पर लगाया भ्रष्टाचार का सनसनीखेज आरोप


जनसंदेश न्यूज़
प्रतापगढ़। जिलाधिकारी सहित दो एसडीएम पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाकर धरने पर बैठने वाले एसडीएम विनीत उपाध्याय को शासन ने निलंबित कर दिया। जिलाधिकारी कार्यालय पर पत्नी के साथ धरने पर बैठे एसडीएम को जिलाधिकारी ने पट्टा आवंटन में जांच का भरोसा दिलाकर धरना समाप्त कराया। लेकिन शासन ने इसे अनुशासन हीनता मानते हुए निलंबित कर दिया। इनके खिलाफ अनुशासिक जांच का आदेश दिया गया है। 


शुक्रवार को प्रतापगढ़ के जिलाधिकारी डॉ. रूपेश कुमार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अतिरिक्त एसडीएम विनीत उपाध्याय उनके कैंप कार्यालय में परिवार समेत धरने पर बैठ गये थे। जिसकी सूचना लगते ही पूरे जिले में खलबली मच गई। जिलाधिकारी सहित पूरा प्रशासन उन्हें मनाने के लिए काफी देर तक मशक्कत करता रहा और उनकी नाराजगी का कारण पता करने में जुटे रहे। 


दरअसल एसडीएम प्रतापगढ़ के लालगंज में पट्टा आवंटन मामले में भ्रष्टाचार से नाराज थे। उनका आरोप है कि उनके खिलाफ एक जांच में एडीएम (एफआर) ने गलत रिपोर्ट लगा दी। इससे नाराज अतिरिक्त एसडीएम विनीत उपाध्याय ने डीएम डॉ. रुपेश कुमार और दो एसडीएम सहित कई कर्मचारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया। चार घंटे तक चले वाला धरना जिलाधिकारी से जांच का आश्वासन मिलने के बाद समाप्त हुआ। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल