देर शाम बीएचयू इमरजेंसी में फिर बवाल, मरीज की मौत के बाद छात्रों ने जमकर काटा बवाल

जूनियर डाक्टर्स ने दी हड़ताल की चेतावनी 




(बवाल के बाद सीसीटीवी फुटेज चेक करते सुरक्षा अधिकारी)


जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल की इमरजेंसी में दुर्व्यवस्था पर शुक्रवार की शाम छात्रों का आक्रोश भड़क उठा। कुछ छात्रों ने डाक्टरों मनमानी और बदसलूकी का आरोप लगाते हुए जमकर बवाल काटा।


मामला एक मरीज की मौत के बाद बिगड़ा। जूनियर डाक्टरों ने प्रशासन और विश्वविद्यालय को चेताया है कि अगर आरोपितों पर कार्रवाई नहीं हुई तो वे हड़ताल पर जाने को मजबूर हो जाएंगे। वहीं पुलिस इस मामले में एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।


मरीज के परिजनों के पक्ष में आए छात्रों पर आरोप है कि जूनियर डाक्टर से मारपीट भी की है। मामले को बढ़ता देख पुसिल भी मौके पर जमी हुयी थी। वाराणसी बीएचयू हॉस्पिटल के इमरजेंसी मेडिसिन वार्ड में पहले से भर्ती मरीज लखेश्वर चौरसिया के साथी अजीत चौरसिया जो कि बीएचयू ने बीपीएड द्वितीय वर्ष का छात्र है। अपने छात्र साथियों को बुलाकर ड्यूटी पर लगे डॉक्टरों को गाली गलौज किया।



सूचना पाकर मौके पर पहुंचे बीएचयू सुरक्षा कर्मियों के पहुंचने से पहले छात्र भाग गए। सूचना पर पहुंचे बीएचयू चौकी इंचार्ज डॉक्टरों द्वारा उचित कार्रवाई की मांग की जा रही है। मौके पर बीएचयू के प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद है। वहीं डॉक्टर सख्त कार्रवाई न होने पर काम पर ना जाने पर अड़े हूुए हैं।


मरीजों का उपचार प्रभावित
बीएचयू सर सुंदरलाल अस्पताल के डिप्टी चीफ प्राक्टर प्रो. एमए अंसारी ने बताया कि कुछ लोगों द्वारा बवाल करने के कारण सभी मरीजों का उपचार प्रभावित हो रहा है। कहा अपने आपको बीएचयू का छात्र बताकर मुकेश पांडेय, अभिषेक उपाध्याय, क्षितिज पांडेय ने डाक्टरों ने दुर्व्यवहार किया और हाथ भी छोड़े हैं। जूनियर डाक्टरों को उन्होंने भरोसा दिलाया है कि आरोपितों पर जरूर कार्रवाई होगी।
                                               


Popular posts from this blog

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल

साली के प्यार में आकर जीजा ने पत्नी और बेटी की कर दी निर्मम हत्या, 10 साल पहले किया था लव मैरिज

केन्द्र सरकार ने जारी की अनलॉक 5 की गाइडलान, इस तारीख से पूरे देश में खुलेंगे सिनेमा हॉल