डीएम की पहल: कोविड सेंटर में मरीजों को मिलेगा साहित्य व समाचार पत्र, डीएम रखेंगे ऑनलाइन नजर

कोविड सेंटरों पर है जिलाधिकारी की आन लाइन नजर 

जनसंदेश न्यूज
मीरजापुर। साहित्य समाज का दर्पण ही नहीं जागरूक जनमानस का सच्चा दोस्त हैं। जिसकी जरूरत आपदा काल में ज्यादा रहती हैं। कोरोना पॉजिटिव मरीजों को अब कोविड सेंटर में पर उनका पुराना दोस्त साहित्य व समाचार पत्र मिलेगा। जो उन्हें आइसोलेशन में अलग रहने के साथ ही उन्हें आसपास की हलचल से अवगत कराते हुए उनके अंदर पाजिटिव ऊर्जा का संचार करता रहेगा। इसकी पहल जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल ने करने के साथ ही खेलने की भी व्यवस्था मुहैया कराया है। 


इतना ही नहीं अब हर सेंटर पर लगे सीसीटीवी कैमरे के सहारे डीएम की नजर ऑन लाइन व्यवस्था को अपनाए जाने से लगी रहेगी। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल ने जनपद के कोविड सेंटर पर मरीजों की समुचित देखभाल और व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए सेंटरों पर आन लाइन नजर रखने के लिए कोविड़ सेंटर पर सीसीटीवी कैमरों को कन्ट्रोल रूम से जोड़ कर जनता की बेहतर सेवा की पहल की है। 


मरीजों की बेहतरी के लिए हॉस्पिटल पर आन लाइन नजर रहेगी। कोविड सेंटर पर मरीजों के खेलने की व्यवस्था के तहत एक तरफ कैरम बोर्ड समेत इनडोर खेल की व्यवस्था की गई हैं तो वहीं इंसान के सच्चे दोस्त कहे जाने वाले साहित्य और समाचार पत्रों की भी व्यवस्था की गई है। कोविड सेंटर पर भर्ती मरीजों पर अब कन्ट्रोल रूम से निगाह रखी जा रही है। सेंटर से जिलाधिकारी खुद व्यवस्था पर नजर रख रहे हैं। 


डीएम के इस पहल की प्रबुद्ध जनों ने सराहना करते हुए कहा कि महामारी के दौरान जब कोरोना संक्रमण के भय से आम इन्सान आइसोलेशन के दौरान अकेला महसूस करने लगता है तब इस दौरान साहित्य उनके लिए वरदान साबित होगा। साहित्य रूपी मित्र के सानिध्य में पीड़ित पाजिटिव ऊर्जा का संरक्षण करके वायरस का काम तमाम करने में सफल होंगे।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल