चर्चित अंकरी कांड के कारण मुसहर बस्ती विवाद मामले में उच्च न्यायालय ने सामाजिक कार्यकर्ताओं को दी जमानत



जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। जिले के चर्चित अंकरी कांड के कारण फूलपुर में मुसहरों व दबंगों के बीच हुए विवाद के मामले को दर्ज मुकदमे में उच्च न्यायायल ने गुरूवार को सामाजिक कार्यकर्ता मंगला राजभर को जमानत दे दी। सामाजिक कार्यकर्ता ने पुलिस द्वारा दर्ज मुकदमें को फर्जी व सत्ता के दबाव में की गई कार्रवाई बताते हुए उच्च न्यायालय में पीटिशन दाखिल की थी और मानवाधिकार आयोग से भी इसकी शिकायत की थी।
बीते 4 अप्रैल को फूलपुर थानान्तर्गत थाने गांव मुसहरों व गांव के दबंगों के बीच विवाद हुआ था। जिसमें दबंगों द्वारा मुसहरों के घरों में आग लगा दी गई थी। वहीं कोईरीपुर के मुसहर बस्ती में अकरी खाने को मजबूर मुसहरों की खबर को उन्होंने ही उजागर की थी। इस मामले में पुलिस ने इसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। 
वहीं दूसरी तरफ इस पूरे प्रकरण की शिकायत मानवाधिकार जननिगरानी समिति के सीईओ डॉ. लेनिन रघुवंशी ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से की थी। जिसमंे माननीय आयोग ने इसे संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी करते हुए कार्यवाही हेतु निर्देशित किया है। 


 


Popular posts from this blog

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल

साली के प्यार में आकर जीजा ने पत्नी और बेटी की कर दी निर्मम हत्या, 10 साल पहले किया था लव मैरिज

केन्द्र सरकार ने जारी की अनलॉक 5 की गाइडलान, इस तारीख से पूरे देश में खुलेंगे सिनेमा हॉल