भारतीय शोध को विश्व पटल तक पहुंचाएं: राज्यपाल

बीएचयू की ओर से इंडियन साइटेशन इंडेक्स विषय पर ऑनलाइन राष्ट्रीय कार्यशाला बोली राज्यपाल



विजय कुमार सिंह 
वाराणसी। शोध में समझौता नहीं करना चाहिए ताकि उसकी गुणवत्ता बनी रहे। भारतीय शोध को विश्व पटल तक पहुंचाने का प्रयास किया जाए ताकि शोधार्थियों का मनोवल बेढ़े और भारत की प्रतिष्ठा में वृद्धि हो। राज्यपाल महोदया ने कहा कि सर्व विद्या की राजधानी काशी हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना का महान कार्य महामना मदनमोहन मालवीय जी ने किया था। 


यह बातें उत्तर प्रदेश की माननीय राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने अपने वीडियो संदेश के माध्यम से संबोधित करते हुए कही। वह रविवार को बीएचयू स्थित विश्वविद्यालय अनुदान आयोग- मानव संसाधन विकास केन्द्र के इंडियन साइटेशन इंडेक्स विषय पर ऑनलाइन  राष्ट्रीय कार्यशाला में उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित कर रही थी। इस अवसर पर काशी हिंदू विश्वविद्यालय के कुलाधिपति न्यायमूर्ति गिरिधर मालवीय, बीएचयू वीसी प्रो राकेश भटनागर, कार्यक्रम में विशेषज्ञ के तौर पर प्रमुख  एवं निस्केयर के पूर्व वैज्ञानिक डॉक्टर प्रकाश चंद्रा ने ‘इंडियन साइटेशनर इंडेक्स’ के विशेषताओं के बारे में जानकारी दी। 


इस अवसर पर इंडियन साइटेशन इंडेक्स के डॉ चिन्मय बेहरा ने प्रतिभागियों को इसके उपयोग करने की विधि प्रायोगिक रूप से समझाएं। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग मानव संसाधन विकास केंद्र के निदेशक प्रो.प्रवेश कुमार श्रीवास्तव ने स्वागत संबोधिन कार्यशाला समन्वयक डिप्टी लाइब्रेरियन डॉक्टर संजीव सराफ ने कार्यशाला की उपयोगिता पर प्रकाश डाला। संचालन डॉ.शुचिता सिंह ने किया और आभार डॉ रामकुमार दांगी ने दिया। इस कार्यशाला में देश भर के 80 प्रतिभागियों ने भाग लिया।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल