बनारस में छात्राओं ने उठाई आवाज, हाथरस की बेटी को मिले न्याय, हत्यारों को फांसी दे सरकार

दीक्षा महिला कल्याण संस्थान की छात्राओं ने जताया आक्रोश



जनसंदेश न्यूज़
वाराणसी। हाथरस में बेटी से हैवानियत की दिल दहला देने वाली घटना के खिलाफ बुधवार को दीक्षा महिला कल्याण शोध संस्थान की छात्राओं ने पोस्टर बनाकर आक्रोश जताया। बेटियों ने मनीषा को न्याय दिलाने की मांग करते हुए आरोपियों को फांसी दिये जाने की मांग की और कहा कि जब तक देश की बेटियों के लिए एक सुरक्षित वातावरण तैयार नहीं किया जाता, तब इस तरह की दुस्साहिक घटनाएं भारतीय जनमानस को द्रवित करती रहेगी।   


इस मौके पर संस्था की अध्यक्ष संतोषी शुक्ला ने कहा कि समाज में आए दिन महिलाओं के ऊपर हो रहे अत्याचार, उत्पीड़न, बलात्कार जैसी जघन्य घटनाएं हमें यह सोचने को मजबूर कर देती है कि आज हमारा देश किस दिशा में जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में नारियों को देवी का स्वरूप बताया गया है और तो और नारी को जगत जननी का दर्जा दिया गया है। ऐसे देश में इस तरह की जघन्य घटनाएं सरकार के कानून व्यवस्था पर प्रश्न खड़े करती है। आज आवश्यक हो गया है कि नारियां अपने स्वाभिमान और सम्मान की सुरक्षा खुद करें और आत्मनिर्भर बनकर किसी भी परिस्थिति से लड़ने की क्षमता रखें। 


उन्होंने सरकार से यह अपील किया कि इस तरह के जघन्य अपराधों के रोकथाम के लिए सरकार सख्त से सख्त कानून बनाये और पीड़ितों को न्याय दिलाये। इस दौरान संस्था की अध्यक्ष संतोषी शुक्ला और नीलम यादव, पूनम यादव, सुधा विश्वकर्मा, रीना कुमारी, मीना, स्वाति, दीपिका, जूही चौहान, सरिता, आरती, सायरा, साजिया, जीनत, तनु, नाजमा, गीता, सबनम, आयुषी, गीता, शशि, आरती, रोजी, नूर आदि छात्राएं मौजूद रही।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल