बनारस के पूर्व वीडीए सचिव बने गाजीपुर के नये जिलाधिकारी, डीएम के रूप में पहली जिम्मेदारी

वाराणसी में एडीएम और जौनपुर में रह चुके है डिप्टी कलेक्टर


ओम प्रकाश आर्य का ग्यारह महीनें कार्यकाल रहा सराहनीय

जनसंदेश न्यूज़
गाजीपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार की देर रात बाद आठ जिलों के डीएम के तबादले कर दिए है। जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य के जगह मंगला प्रसाद सिंह को नई जिम्मेदारी दी गई है। वहीं, ओम प्रकाश आर्य को वेटिंग लिस्ट में डाल दिया गया है।


मंगला प्रसाद सिंह सुल्तानपुर जिले के निवासी 1997 बैच के पीसीएस अधिकारी  है। 49 वर्ष के मंगला प्रसाद को पांच नवंबर 2018 में आईएएस के लिए प्रमोटेड किया गया था। श्री प्रसाद पूर्वाचल में कई जगह अपनी सेवा दे चुके है। सन 2004 में जौनपुर जिले में डिप्टी कलेक्टर के पद पर कार्य कर चुके है। सन 2014 में वाराणसी मंडल में एडीएम तथा 2017 में विकास प्राधिकरण सचिव वाराणसी रह चुके है। मंगला प्रसाद सिंह को पहली बार किसी जिले का जिलाधिकारी बनाया गया है। इसके पहले यह लखनऊ में विकास प्राधिकरण सचिव के पद पर कार्यरत थे। 


अधिकारियों के विभिन्न श्रोतों से पता चला है कि काफी तेज तर्रार अधिकारी है। इनके जिले में डीएम बनने से गाजीपुर में भ्रष्टाचार पर अंकुश और विकास में तेजी आएगी। ओमप्रकाश आर्य जिले में 13 अक्टूबर 2019 को जिलाधिकारी का चार्ज लिए थे। जिले में करीब ग्यारह महीने तक कार्य किए। इस दौरान कोरोना महामारी में इन्होंने बहुत ही सराहनीय कार्य किया था। इसके अलावा विकास कार्यो को लेकर हमेशा बैठक के साथ ही दिशा निर्देश देने में लगे हुए थे। इनका कार्यकाल सराहनीय रहा है। जनता की समस्या बखूबी सुनते थे। वह फरियादियों के कार्यो का निराकरण भी करते थे। 


इसी बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई जिलों का भ्रमण कर विकास कार्यों व कानून-व्यवस्था की समीक्षा किए। जिसमें गाजीपुर जिले में इन्फ्रारेड थमार्मीटर व पल्स आक्सीमीटर की खरीद में बाजार दर से अधिक कीमत के आरोप लगाए गए थे। सरकार इनकी एसआईटी से जांच करा रही है। इसके अलावा यूपी सरकार ने  जिलाधिकारी के पद से हटाए गए आठ लोगो का तबादला कर दिया है जिसमें गाजीपुर जिले का भी नाम है।  


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल