बाहुबली अतीक के करीबी सपा नेता का मकान जमींदोज, विरोध कर रही पत्नी सहित 17 लोग गिरफ्तार

बेली कछार में गरजा पीडीए का बुलडोजर, मकान हुआ ध्वस्त 

जनसंदेश न्यूज़
प्रयागराज। प्रयागराज के बेली कछार में विकास प्राधिकरण का बुलडोजर शनिवार को बाहुबली सांसद अतीक अहमद के दो गुर्गों भुट्टो और राशिद के बेली कछार में अवैध प्लाटिंग पर जमकर गरजा, अवैध प्लाटिंग पर बने मकानों को ध्वस्त कर दिया। हालांकि विकास प्राधिकरण की टीम पुलिस फोर्स के साथ प्लांट में बने अवैध निर्माण को ध्वस्त करने पहुंची तो वहां सपा नेता रिचा सिंह ने शासनादेश के जरिए विकास प्राधिकरण की टीम को शासनादेश का हवाला देती रही कि मकान न गिराया जाए यह गैरकानूनी है।


इस दौरान पीडीए के अधिकारियों ने सपा नेता रिचा सिंह की बात डीएम से करवाई। इसके बाद भी जब नहीं मानी तो पुलिस प्रशासन ने वहां विरोध कर रहे रिचा सिंह सहित 17 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। जिसमें पुरुष व महिलाएं शामिल रहे। इन सभी लोगों को गिरफ्तार करने के पश्चात पीडीए कार्रवाई शुरू किया और अवैध तरीके से बने मकानों को ध्वस्त कर दिया। यह अभियान तहसीलदार और पीडीए के विशेष कार्याधिकारी आलोक पांडे के नेतृत्व में चलाया गया।


शनिवार की दोपहर में अवैध प्लाटिंग को उजाड़ने की कार्रवाई शुरू की गई। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस फोर्स भी मौजूद रही। आपको बताते चलें कि बेली कछार में अतीक के दो शूटरों ने अवैध प्लाटिंग की थी। बेली कछार में राजकीय आस्थान की भूमि पर दो जगहों पर करीब 200 वर्ग गज और 500 वर्ग गज पर अवैध प्लाटिंग की गई थी। इन जमीनों की कीमत करोड़ों में आंकी जा रही है। भुट्टो और राशिद अतीक के शूटर बताए जा रहे हैं। इन्होंने ही अवैध रूप से प्लाटिंग की थी। 


इस प्लाटिंग पर बने अवैध निर्माण को ध्वस्त करने के लिए पीडीए के बुलडोजर के साथ काफी संख्या में पुलिस फोर्स भी पहुंची। जिसे देख लोगों की भीड़ लग गई। कई लोग सकते में आ गए कि यहां पर क्या होने वाला है पर थोड़े ही देर बाद लोगों की जानकारी हो गई। इसको लेकर सपा नेता ने भी काफी देर तक शासनादेश पढ़कर अधिकारियों को सुनाते रही। प्रदेश सरकार खुद जंगलराज गुंडाराज बताती रही फिर भी पीडीए की कार्यवाही नहीं रुकी।



दरअसल इन दिनों पूर्व बाहुबली सांसद व गुर्गों के खिलाफ अवैध तरीके से अर्जित की गई संपत्तियों पर कार्रवाई जारी है। अवैध तरीके से अर्जित की गई अचल संपत्तियों पर प्रशासन व पुलिस का डंडा चल रहा है। अब इसके साथ ही प्रयागराज की पुलिस ने अतीक के कई और गुर्गों पर कार्रवाई भी शुरू है। अपराध के जरिए अवैध संपत्ति बनाने वालों के बारे में पुलिस ने जानकारी जुटाई है। कुछ निर्माणाधीन भवनों को चिह्नित कर लिया गया है, जिन पर जल्द ही कार्रवाई की बात कही जा रही है।


अधिकारियों का दावा है कि अतीक के गैंग आइएस-227 के कई सक्रिय सदस्यों ने जमीन का अवैध कारोबार कर अकूत दौलत कमाई है। पॉश इलाके से लेकर दूसरे स्थानों की विवादित और सरकारी जमीन पर भी कब्जा कर लिया है। भूखंड को स्वरूप बदलकर उस पर व्यावसायिक व आवासीय बिल्डिंग बनाई जा रही है। अभी तक की छानबीन में पता चला है कि खुल्दाबाद के रोशनबाग में एक मल्टी कांप्लेक्स बन रहा है। करेली के गौसनगर में दो मकान और धूमनगंज के पीपलगांव, झलवा में कई गुर्गे भवन बनवा रहे हैं।



अचल और बेनामी संपत्तियों के बारे में पता लगाया जा रहा है
कहा जा रहा है कि माफिया के करीबी मकान बनवाने के बाद उसे बेच देते हैं और प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) से नक्शा नहीं पास कराते हैं। लिहाजा ऐसी अचल और बेनामी संपत्तियों के बारे पता लगाया जा रहा है। जिन्हें चिह्नित कर लिया गया है, उनका सत्यापन पीडीए, नगर निगम और राजस्व की टीम करेगी। इसके बाद ही ध्वस्तीकरण और कुर्की की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। 


एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि माफिया अतीक समेत दूसरे गैंगस्टर के विरुद्ध भी कार्रवाई चल रही है। अवैध तरीके से कब्जा करने और अपराध के जरिए अर्जित की जाने वाली अचल संपत्ति के बारे में पता लगाया जा रहा है। पुलिस, प्रशासन और पीडीए की टीम अतीक के आवास, दफ्तर, कोल्ड स्टोरेज समेत कई मकानों को जमींदोज कर चुकी है। इस कार्रवाई से करोड़ों रुपये की चोट माफिया को पहुंची है। वहीं, खुल्दाबाद, धूमनगंज और सिविल लाइंस में सात अचल संपत्ति को कुर्क किया जा चुका है। तीन संपत्तियों को अभी जब्त करने की कार्रवाई बची हुई है। 


अन्य प्रदेशों में भी अर्जित की गई संपत्तियों पर है सरकार की नजर
लखनऊ और दिल्ली में अतीक के फ्लैट भी पुलिस के निशाने पर हैं। अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली के ओखला और लखनऊ में सीतापुर रोड के पास जमीन व फ्लैट होने की जानकारी मिली है। अब दस्तावेज के आधार पर इन संपत्तियों की पुष्टि किया जाना बाकी है, जिसे जल्द ही पूरा कर लिया जा सकता है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल