आठ लाख के जेवर व नगदी सहित दो शातिर चढ़े हत्थे, क्रशर व्यवसायी के घर चोरी का खुलासा

चोरों के पास से पासबुक व गाडियों की चाबी बरामद

जनसंदेश न्यूज
सोनभद्र/ओबरा। बीते दिनों ओबरा थाना क्षेत्र के राम मंदिर कलोनी निवासी क्रशर व्यवसाई के घर से हुई लाखों की चोरी का पुलिस ने शनिवार को खुलासा कर दिया। मामले में पुलिस ने दो शातिर चोरों को गिरफ्तार कर चालान कर दिया। गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों के पास से नगद व लाखों का जेवरात भी बरामद किया गया है। 


मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि बीते 25-26 जुलाई की रात में चोरो ने राम मंदिर कालोनी स्थित व्यवसायी के घर से नकदी, मोबाइल समेत लाखों के जेवरात पर हाथ साफ कर दिया था। चोरी के खुलासे को लेकर जनपद की क्राइम ब्रांच की स्वाट टीम, एसओजी, सर्विलांस तथा थाना ओबरा पुलिस की संयुक्त टीम का गठन किया गया। 


टीम द्वारा एएसपी ओपी सिंह के विशिष्ट निर्देशन तथा क्षेत्राधिकारी ओबरा भास्कर वर्मा के निकट पर्यवेक्षण में अधिसूचना का संकलन किया गया। पुलिस को शनिवार की सुबह मुखबीर से सूचना मिली कि घटना में शामिल अभियुक्त चोपन रोड स्थित सुदामा पाठक चौराहे के पास खड़े हैं जो कि कहीं भागने की फिराक में है। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने घेराबंदी कर दोनों अभियुक्तों को पकड़ लिया। पकड़े गए युवकों के पास से पुलिस ने चोरी किए गए 63 हजार नगद, सोने के आठ लाख के जेवर, ग्रीन कार्ड, पांच आधार कार्ड आदि बरामद किया। 


गिरफ्तार अकबर निवासी सेक्टर-2 व धीरज वर्मा निवासी चूड़ी गली का पुलिस ने संबंधित धाराओं में चालान कर दिया। गिरफ्तार करने वाली टीम में एसएचओ प्रभारी शैलेश राय, स्वाट टीम प्रभारी प्रदीप कुमार सिंह, सर्विलांस सेल प्रभारी सरोजमा सिंह, एसओजी प्रभारी अमित त्रिपाठी, ओबरा कस्बा चौकी इंचार्ज कृष्ण अवतार सिंह, हेड कांस्टेबल जगदीश मौर्य, अरविंद सिंह आदि शामिल थे। चोरी का सफल अनावरण करने पर उत्साहवर्धन हेतु पुलिस अधीक्षक द्वारा 25 हजार रुपये का पुरस्कार भी दिया गया।


Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

नलकूप के नाली पर पीडब्लूडी विभाग ने किया अतिक्रमण, सड़क निर्माण में धांधली की सूचना मिलते ही जांच करने पहुंचे सीडीओ, जमकर लगाई फटकार