उर्वरक की दुकानों पर अलग-अलग टीमों ने की छापेमारी, दुकान छोड़ भाग खड़े हुए दुकानदार, छह के लाइसेंस सस्पेंड

कालाबाजारी रोकने को विभिन्न टीमों ने एक साथ बोला धावा



सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। जनपद में बुधवार को उर्वरकों की दुकानों पर चलाये गए छापेमारी के अभियान के दौरान अनियमितता पाए जाने पर छह दुकानों के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए। मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुलगी के निर्देश पर यह मुहिम चलायी गयी थी।
सीडीओ के निर्देश पर इस छापेमारी के लिए कई टीमों का गठन हुआ था। कार्रवाई कर अंतर्गत उर्वरक के जिन कारोबारियों के लाइसेंस सस्पेंड किये गए उनमें कालिका खाद बीज कृषि रक्षा केंद्र कपसेठी, न्यू श्याम बीज भंडार कपसेठी, चंदन बीज भंडार कपसेठी, जय किसान खाद भंडार कपसेठी, किसान बीज भंडार रमईपुर और पृथ्वीराज एंड संस पिंडरा शामिल थे।
जिला छापेमारी की रणनीति और टीमों का गठन बेहद खामोशी और गुपचुप ढंग से किया गया था। गोपनीयता इतनी रखी गयी थी कि विभाग के कर्मचारियों को भी मुहिम की भनक तक नहीं लगी। क्षेत्रों में एकसाथ पहुंची अलग-अलग टीमों को सामने देखने के बाद उर्वरक के दुकानदारों में हड़कम्प मच गया। कई कारोबारी अपनी दुकान बंद कर भाग खड़े हुए। कुछ दुकानदार पर्याप्त अभिलेख पेश नहीं कर सके। जिला कृषि अधिकारी सुभाष मौर्य ने इस छापेमारी की जानकारी दी। मुहिम में 41 दुकानों पर धावा बोला गया और नौ सैम्पल लिए गए।


 


Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

चकिया में देवर ने भाभी के लाखों के गहने और नगदी उड़ाये, आईपीएल में सट्टे व गलत आदतों में किया खर्च, एएसपी ने किया खुलासा

कुशवाहा कांतःअनुभूतियों में हमेशा जिंदा रहेंगे कालजयी साहित्य के अमर शिल्पी