उर्वरक के दस विक्रेता और सचिवों के खिलाफ एफआईआर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त तेवर के बाद खुली अफसरों की नींद

- दुकानों पर अनियमितता पाये जाने पर लिया गया एक्शन


- दुकानदारों के अलावा समितियों के कई सचिव भी जद में


- गत बुधवार को दो अधिकारियों सेे हो चुका है जवाब-तलब



सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। उर्वरकों के सरकारी बिक्री केंद्रों पर अधिक मनमाने ढंग से यूरिया आदि बेचने, अभिलेख उपलब्ध न होने और उर्वरक की अनुपलब्धता बताते हुए उसकी कालाबाजारी करने आदि की शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त तेवर के बाद वाराणसी में भी मनमानी कर रहे दुकानदारों के खिलाफ कड़े कदम उठाने का सिलसिला शुरु हो गया है। इसकी जद में साधन सहकारी समितियों के कई सचिव भी आए हैं। जनपद के कुल दस उर्वरक विक्रेताओं और सचिवों के विरुद्ध संबंधित थानों में रपट दर्ज करायी गयी है।


सीएम ने सूबे के विभिन्न जिलों में सरकारी उर्वरक बिक्री केंद्रों के बारे में लगातार मिल रही शिकायतों और इस कारण किसानों को हो रही भारी दिक्कत को देखते हुए बीते बुधवार को जनपदों के आला अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये थे। उसके तुरंत बाद वाराणसी में डीएम कौशल राज शर्मा ने विभागीय अधिकारियों संग बैठक कर उर्वरक बिक्री केंद्रों पर चल रही मनमानी रोकने और जिन दुकानों पर जांच के दौरान अनियमितता पायी गयी है, उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने को कहा था।
जनपद में उर्वरक बिक्री केंद्रों की असंतोषजनक स्थिति पर श्री शर्मा ने उसी मीटिंग में जिला कृषि अधिकारी सुभाष मौर्य तथा एआर कोऑपरेटिव विनोद कुमार सिंह को कारण बताओ नोटिस भी जारी कराया था। उनके कड़े रुख को देखते हुए बुधवार देर शाम दस ऐसे उर्वरक विक्रेताओं और सचिवों के खिलाफ रपट दर्ज करायी गयी, जहां अनियमितता पायी गयी थी। हालांकि पूर्व में कुछ दुकानदारों के लाइसेंस निलंबित भी किये गये थे।


जनपद के जिन उर्वरक विक्रेताओं के यहां अनियमितता पायी गयी है उनके खिलाफ फर्टिलाइजर मूवमेंट ऑर्डर 1973 की धारा-3 ए और आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3ध् 7 के तहत प्राथमिकी दर्ज हुई है। उनमें सहकारी समिति उपकेंद्र फूलपुर के सचिव महंत यादव, विकास बीज भंडार बेदउली के प्रोपराइटर रमेश सिंह, किसान फर्टिलाइजर एजेंसी, फुलवरिया के प्रोपराइटर धन्नू लाल, साधन सहकारी समिति छितौनी के सचिव बच्चालाल यादव है।


इसीप्रकार फर्टिलाइजर एजेंसी कपसेठी के प्रोपराइटर सुशील कुमार, इफको कृषक सेवा केंद्र राजातालाब के प्रोपराइटर योगेश कुमार द्विवेदी, राज उर्वरक केंद्र फूलपुर के प्रोपराइटर वीरेंद्र कुमार जायसवाल, औद्यानिक उत्पादन एवं विपणन सहकारी समिति लि, पूरेबरियार (सेवापुरी) के प्रोपराइटर हरिनाथ पटेल, औद्यानिक उत्पादन एवं विपणन सहकारी समिति लि. राजवाड़ी के प्रोपराइटर सच्चिदानंद पांडेय और साधन सहकारी समिति अमराखैरा सरहरी केशरीपुर सुसुवाही के सचिव रमाकांत त्रिपाठी के विरुद्ध रपट दर्ज करायी गयी है।


...तत्काल कंट्रोल रूम को दें सूचना


वाराणसी। जिला कृषि अधिकारी सुभाष मौर्य ने बताया है कि बिक्री केंद्रों पर उर्वरक खरीदने के लिए अपना अधार व खतौनी जरूर ले जाएं। साथ ही खरीदे गये उर्वरक की रसीद लें। यदि कोई दुकानदार रसीद नहीं देता है और तय रेट से अधिक मूल्य लेता है तो तत्काल इसकी सूचना कंट्रोल रूम के फोन नंबर 9450408872 और 9450967887 और 9369560120 पर दें। श्री मौर्य ने यह भी कहा है कि जनपद के सभी सहकारी क्षेत्र और प्राइवेट दुकानों पर तय लक्ष्य से अधिक यूरिया उपलब्ध है। जिले में कहीं भी यूरिया की कोई कमी नहीं है। दुकानों पर यूरिया की बिक्री और वितरण की निगानी के लिए डीएम और सीडीओ स्तर से अधिकारियों व कर्मचारियों की तैनाती की गयी है। पिंडरा प्रतिनिधि के अनुसार गुरुवार को बीडीओ विजय जायसवाल और एडीओ आशीष सिंह ने इलाकाई बिक्री केंद्रों का निरीक्षण किया।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल