प्राइवेट अस्पतालों में तय रेट से अधिक न हो वसूली, रखें नजर: योगी, दो दिनी दौरे पर बनारस पहुंचे मुख्यमंत्री

दो दिनी दौरे पर शनिवार की शाम पहुंचे मुख्यमंत्री ने बीएचयू सभागार में की मीटिंग


- कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए किये गये और चल रहे कार्यों की हुई समीक्षा


- कहा: बीएचयू अपनी पूरी क्षमता का करे उपयोग, गौरव-प्रतिष्ठा के अनुरूप दे रिजल्ट


- कोविड और नॉनकोविड के लिये अलग-अलग डायलिसिस की मशीन रख करें प्रयोग


- 24 घंटे में आ जाए सैंपलिंग की जांच के परिणाम, ताकि पॉजिटिव का मरीज शुरु हो इलाज


- सर्किट हाउस में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ की विकास कार्यों की समीक्षा



सुरोजीत चैटर्जी
वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद के अफसरों से कहा है कि प्राइवेट अस्पतालों में किसी भी हाल में तय रेट से अधिक पैसे की वसूली न हो। इसके लिए समय-समय पर मुआयना करें। किसी अन्य रोग के मरीज अस्पताल में आने पर उसका एंटीजन टेस्ट कर कोविड-19 की स्थिति देख लें। यह जांच निजी चिकित्सालयों में भी लागू किया जाय। लोगों की सैंपलिंग बढ़ाएं तथा जिले में प्रतिदिन चार हजार से लेकर पांच हजार तक टेस्ट हों। सर्विलांस और कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग बढ़ाया जाय। बीएचयू में सीनियर फैकल्टी राउंड करें।


दो दिनी दौरे पर शनिवार की शाम वाराणसी पहुंचे सीएम योगी बीएचयू सभागार में कोविड-19 महामारी से बचाव के उद्देश्य से किए गए कार्यों और इंतजामों की विस्तृत समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिये। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि बीएचयू अपनी पूरी क्षमता का उपयोग करते हुए अपने गौरव और प्रतिष्ठा के अनुरूप रिजल्ट दे। जहां डायलिसिस की व्यवस्था है वहां कोविड तथा नॉनकोविड के लिये अलग-अलग डायलिसिस मशीन रखें। सैंपलिंग की जांच कर 24 घंटे में रिजल्ट दें। जिससे पॉजिटिव मरीज का उपचार तत्काल आरंभ कराना संभव हो। बीएचयू में ओपीडी की क्षमता बढ़ाई जाए।


मीटिंग में मुख्यमंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन के बाद एल-1 अस्पताल व्यवस्था की जरूरत कम हो गई है। अब एल-2 और एल-3 लेवल की व्यवस्था बढ़ाई जाए। बनारस में कोविड अस्पतालों में बेड की कमी नहीं होनी चाहिए। सीएम ने बीएचयू में गत दिनों दो मरीजों के सुसाइड करने का जिक्र करते हुए उस घटना को चिंताजनक बताया। उन्होंने कहा कि इससे गलत संदेश जाता है। डॉक्टर और स्टाफ वार्ड में विजिट करें तो मरीज की स्थिति का पता लगता रहता है तथा उसी के अनुरूप मैनेज किया जाए तो ऐसी घटनाएं नहीं होंगी।


योगी ने कहा कि बीएचयू पूर्वी उत्तर प्रदेश और इसके आसपास के अन्य राज्यों के मरीजों के इलाज के लिए जाना जाता है। वह दूसरी बार बीएचयू में इस महामारी से बचाव को पूरी क्षमता व जज्बे से कार्य कराने के लिए आए हैं। राज्य सरकार से जिस मदद की जरूरत है, वह सहायता मिलेगी लेकिन अच्छे परिणाम दिखाई देना चाहिए। बीएचयू में आईसीयू के 150 बैड तैयार किए जाएं। एफएचएनसी के अच्छे रिजल्ट आ रहे हैं। सभी अस्पतालों में इसे बढ़ाया जाए।


सीएम ने कहा कि बनारस के शहरी क्षेत्र में कोरोना के रोगी अधिक हैं। यहां वार्डवार टीम लगाकर 100 सर्वे करें। होम आइसोलेशन के मरीज से प्रतिदिन मेडिकल टीम संपर्क रखे तथा उनकी तबीयत के अनुरूप व्यवस्था करें। किसी मरीज में लक्षण दिखने पर उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती करें। उन्होंने कहा कि वाराणसी में पॉजिटिव रेट व मृत्युदर अधिक है। इसे सर्विलांस टेस्टिंग और तत्काल चिकित्सा व्यवस्था देकर घटाएं। कमांड कंट्रोल सेंटर प्रभावी रखें। वहां से मरीजों व अस्पतालों से बराबर संपर्क रखा जाए।


बीएचयू में मीटिंग के करने के बाद देर शाम सर्किट हाउस पहुंचकर मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की।



जिले में रिकवरी रेट 75.5 फीसदी: डीएम
- बीएचयू सभागार में शनिवार की शाम सीएम योगी की बैठक के आरंभ में डीएम कौशल राज शर्मा ने पावर प्वॉइंट प्रेजेंटेशन के जरिये वाराणसी में कोविड अस्पतालों में बेड की व्यवस्था, सैंपलिंग, सर्वे, दवा वितरण आदि कई बिंदुओं पर विस्तार से जानकारी दी।इस मौके पर उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि लॉकडाउन नियमों के उल्लंघन में अब तक तीन करोड़ 53 लाख रुपये जुर्माना वसूला गया है। मास्क न पहनाने पर एक लाख 43 हजार 127 लोगों का चालान और दो लाख एक हजार 156 वाहनों का चालान हो चुका है। जनपद में अब तक एक लाख छह हजार 840 सैंपल की जांच हो चुकी है। जिसमें सात हजार 746 पॉजिटिव मिले। अब तक पांच हजार 851 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं। जिले का रिकवरी रेट 75.5 फीसदी और मृत्युदर 1.79 प्रतिशत है। पॉजिटिव रेट 7.25 फीसदी है।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल