पत्रकार रतन मर्डर केस: निलंबित एसओ की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े पत्रकार के पिता, बोले नहीं उठने देंगे अर्थी



जनसंदेश न्यूज़
बलिया। पत्रकार रतन सिंह की हत्या के बाद एक तरफ राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ गई है तो वहीं पुलिस की कार्यशैली से नाराज परिजन निलंबित एसओ की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अड़ गये है। पत्रकार रतन सिंह ने एसओ शशिमौली पाण्डेय के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए उनकी गिरफ्तारी की मांग की है, वहीं कहा कि जब तक एसओ की गिरफ्तारी नहीं होती, तब तक वें बेटे की अर्थी नहीं उठने देंगे। वहीं मंगलवार को पत्रकार के परिजनों से मिलने जा रहे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, जिसके बाद जनपद में राजनीतिक सरगर्मियां भी बढ़ गई। 


मंगलवार को पोस्टमार्टम होने के बाद पत्रकार का शव जैसे ही घर पहुंचा, वैसे ही चीख पुकार मच गई। परिजनों के करूण क्रदन से मौके पर मौजूद लोगों की आंखे भी नम हो गई। वहीं पत्रकार के पिता ने एसओ की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अड़ गये और गिरफ्तारी होने तक अर्थी उठाने से साफ मना कर दिया। 


पुलिस की थ्योरी की पूरी तरह से गलत
इससे पहले सुबह रतन सिंह के पिता विनोद सिंह ने पुलिस की उस थ्योरी को झूठा करार दिया जिसमें कहा जा रहा था कि यह आपसी विवाद में हत्या हुई है। आईजी ने बताया था कि जमीनी विवाद में एक पक्ष ने भूसा रखा था तो दूसरे पक्ष ने उसी जमीन पर पुवाल लाकर रख दिया। इसी विवाद के बाद गोली चली और पत्रकार रतन सिंह की मौत हो गई। पत्रकार के पिता ने कहा कि कोई भी जाकर देख ले कि उस जगह पर भूसा या पुआल रखा है या नहीं।



यूपी कांग्रेस अध्यक्ष फिर गिरफ्तार
मंगलवार को परिजनों से मिलने बलिया जा रहे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को रायबरेली में गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने पहले लल्लू को बलिया जाने से रोका, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष नहीं माने। वह बलिया जाने के लिए जिद करने लगे। इसके बाद पुलिस ने अजय कुमार लल्लू को रायबरेली के समसपुर पक्षी बिहार के गेस्ट हाउस ले कर चली गई। खबर फैलने के बाद गेस्ट हाउस के सामने कांग्रेसियों की भीड़ जुटने लगी। आक्रोशित कांग्रेसी ने प्रदर्शन शुरू कर दिया है।  





Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल