पत्नी की हत्या कर खुद की जान देने की कोशिश


ससुराल वालों ने कहा दहेज के लिए बेटी की हुई हत्या


तीन अगस्त को देवर विदाई कराकर ले आया था घर


 बड़ागांव। पति ने पहले पत्नी का गला दबाकर हत्या कर दी इसके बाद खुद जान देने की कोशिश करने लगा लेकिन परिवार की तत्परता से उसे बचा लिया गया। मामला स्थानीय थानाक्षेत्र के ढोढईपुर (चक चमरान) भीमनगर गांव का है। रविवार की देर रात पति ने गला दबाकर पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद खुद पंखे के सहारे लटक गया। उसके झटपटाने की आवाज सुनकर परिवार वालों ने बिना देरी किये उसे नीचे उतारा। इसके बाद 112 नंबर पर पुलिस को अवगत कराया। मायका पक्ष की तहरीर पर पति समेत पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भिजवाया।


मृतका की मां ने दहेज के लिए हत्या किये जाने का आरोप लगाया और पति द्वारा जान देने की कोशिश को नाटक बताया। पुलिस पति दिनेश लाल को हिरासत में लेकर मामले की जांच कर रही है। मृतका रंजू देवी की शादी चकचमरान भीमनगर गांव निवासी दिनेश लाल के साथ हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही दहेज के लिए रंजू को परेशान किया जाता था। शादी के 12 साल बीत जाने के बाद भी कभी बाइक तो कभी सोने के जेवरात मांगे जाते थे। नकदी की डिमांड आये दिन की जाती थी। बेटी के इनकार करने पर उसे प्रताड़ित किया जाता था। कुछ महीने पहले बेटी को मारपीट कर ससुराल वालों ने घर से निकाल दिया था। हत्या से बचने के लिए पति खुद को फांसी लगाने का नाटक किया हैं। फांसी लगाने के बाद क्या कोई चिखपुकार सकता है?


इसी तीन अगस्त को मेरी पुत्री का देवर घर आया और बेटी की विदाई करने के लिए कहा। यह भी कहा कि अब हमारा परिवार न दहेज मांगेगा और न तो प्रताड़ित करेगा। हम सब देवर की बात पर भरोस कर बेटी को विदा कर दिया। लेकिन क्या पता था कि उसकी हत्या कर दी जायेगी। इस मामले में पति दिनेश लाल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल