मौत का बदला लेने के लिए अलादीन और यास्मीन का हुआ पुनर्जन्म, अब होंगे नई भूमिका में..... 



जनसंदेश न्यूज़
इंदौर। ऐसा कहा जाता है कि इतिहास खुद को दोहराता है! इस कहावत को एक बार फिर पारिभाषित कर रहा है सोनी सब का प्रेमी जोड़ा अलास्मीन, जो एक बार फिर अपनी अधूरी कहानी को नए सिरे से लिखने के लिए राख से उठ खड़ा हुआ है। ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ पूरी तरह एक नई पृष्ठभूमि में योद्धाओं अलादीन और यास्मीन के पुनर्जन्म का गवाह बनने के लिए तैयार है। 


जैसा कि हम जानते हैं, अलादीन के पिता ओमर के दुखद त्याग और जफर के एक शक्तिशाली एय्यार के तौर पर उभरने के कारण अलादीन और यास्मीन की मौत हो जाती है। दर्शक अब इस जोड़े को एक नए अवतार में देखने के लिए तैयार हो जाएँ क्योंकि उनकी जिंदगी में उनके पुनर्जन्म के साथ नया मोड आ गया है। इस पुनर्जन्म के घुमावदार मोड के साथ बाजी अब पलट गई है और उनकी भूमिकाएँ पूरी तरह बदल गई हैं। 


सिद्धार्थ निगम जो अलादीन का किरदार निभा रहे थे, अब एक राजकुमार की भूमिका में नजर आएंगे जो भरपूर लाड़ दुलार के चलते बिगड़ैल बन जाता है जबकि आशी सिंह द्वारा निभाई जा रही यास्मीन, जिसे काली चोरनी कहा जाता है, गरीबों की बहादुर मसीहा के तौर पर उभर कर सामने आएगी। अलास्मीन का रोमांचक नया सफर एक बार फिर शुरू हो जाता है और असली सवाल रह जाता है। इस बार उन्हें एक दूसरे की ओर जाने वाला रास्ता किस तरह मिलेगा? क्या वें अपनी मौत का बदला ले पाएंगे?


‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ में कई नए चेहरों का स्वागत होगा। अलादीन के पिता सुल्तान के तौर पर हर्ष वशिष्ठ, अभिनेत्री शिवानी बदोनी कोयल की भूमिका में और अमित रघुवंशी राजकुमार अलादीन के प्रतिस्पर्धी शीफान के तौर पर शो में प्रमुख किरदारों में नजर आएंगे। एक तरफ अलादीन और यास्मीन रोमांचक घटनाओं को सामने लाते हैं, वहीं दर्शकों को अम्मी एक नए अंदाज में नजर आएंगी और इस भूमिका को स्मिता बंसल ने निभाया है। अम्मी उर्फ रुखसार बेगम एक प्रमुख अध्यापिका की भूमिका में दिखेंगी जो छात्रों के लिए एक एकेडमी चलाती हैं। किस तरह पुनर्जन्म, फिर से खोज करने और बदले की यात्रा रूपांतरित होती है, यह एक आनंददायक रोमांच की शुरूआत होगी। 


प्रिंस अलादीन की भूमिका निभा रहे सिद्धार्थ निगम ने कहा, ह्लअलादीन और यास्मीन के दुखद अंत के बाद, किस्मत ने इस जोड़े को एक बार फिर वापस साथ ला दिया है। राजघराने में, एक राजकुमार के तौर पर जन्मा अलादीन एक बिगड़ैल इंसान बन जाता है और वही करता है जो उसके मन में आता है। उसकी नियति और उसके लिए भविष्य में क्या तय है, उसे इसके बारे में पता नहीं है। राजकुमार अपनी जिंदगी पूरी शानो शौकत के साथ जीना पसंद करता है और यह नया अलादीन मनोरंजन और सभी के चेहरों पर हमेशा रहने वाली मुस्कान छोड जाने का वादा करता है। 


मैं ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ में इस नए रोमांच को लेकर बेहद उत्साहित हूँ। इस शो में जबरदस्त रोमांच देखने मिलेगा और नए चेहरे शो में कुछ बेहद रोमांचक किरदारों का स्वागत करने के लिए तैयार है। यास्मीन की भूमिका निभाने वाली आशी सिंह ने कहा कि अब तक यह काफी रोमांचक सफर रहा है और हमारे दर्शकों के लिए मैं एक नई यास्मीन को पेश करने के लिए उत्साहित हूँ। यास्मीन जिसे काली चोरनी भी कहा जाता है, एक ऐसे किरदार में नजर आएगी जिसे दर्शकों ने इससे पहले इस शो में कभी नहीं देखा। उसकी जिंदगी बिलकुल अलग है और वो गरीबों की मसीहा है। यास्मीन साहसी है और काली चोरनी की भूमिका निभाकर समाज में अन्याय के खिलाफ लड़ने में विश्वास रखती है। एक ही शो में इतने अलग-अलग तरह की भूमिका निभाने का मौका पाकर मैं बहुत रोमांचित महसूस कर रही हूँ और मुझे यकीन है कि दर्शकों को यह नया सफर जरूर पसंद आएगा। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल