एसटीएफ के हत्थे चढ़ा पत्रकार का हत्यारा


दिनदहाड़े छह गोलियां मारकर मचा दी थी सनसनी
सरगर्मी से वाराणसी एसटीएफ कर रही थी बलवंत का पीछा


रवि  प्रकाश सिंह


वाराणसी। करंडा चट्टी स्थित गिट्टी-बालू की अपनी दुकान पर पत्रकार राजेश की ताबड़तोड़ छह गोलियां बरसाकर हत्या करने वाला शातिर वाराणसी एसटीएफ के हत्थे चढा। एसटीएफ ने उसे सिगरा स्टेडियम के पीछे नगर निगम के पास से दबोचा। आरोपी पहचान बलवंत कुमार उर्फ पंकज निवासी मैनपुरी थाना करंडा के रूप में हुई और ये टॉप टेन का अपराधी है। इसके उपर गाजीपुर, वाराणसी ओर प्रयागराज में करीब दर्जन भर मामले हैं दर्ज। पत्रकार की हत्या के बाद इसके उपर  25 हजार का इनाम घोषित किया गया था। एसटीएफ आगे की कार्रवाई में जुट गई है। बलवंत की गिरफ्तारी पुलिस की बड़ी सफलता मानी जा रही है। पूछताछ में उसने बताया कि पत्रकार राजेश मिश्रा को गोली मारने की योजना प्रदीप मिश्रा के कहने पर मारी थी।
राजेश उर्फ  टुन्ना गैंग के लिए काम करने वाला ये शातिर वाराणसी में किसी घटना को अंजाम देने के लिए आया था। सूत्र बताते है कि इसके पहले वह किसी वारदात को अंजाम देता एसटीएफ ने दबोच लिया। अगर इसके आपराधिक इतिहास पर नजर डाले तो इसके पहले करंडा पुलिस से बलवंत, आनंद दूबे ( राजेश टुन्ना का भाई) और प्रदीप मिश्रा की मुठभेड़ हुई थी। जिसमें आनंद दूबे भागने में सफल हुआ था और बलवंत पकड़ा गया था। जेल में बंद गैंग के सरगना राजेश टून्ना को भगाने की योजना भी बनाई। जमानत पर छूटने के बाद बलवंत ने न्यायालय में पेशी के दौरान सरगना राजेश मिश्रा उर्फ टून्ना को पुलिस अभिरक्षा से भगाने में सफल रहा।  
पूर्व जिला पंचायत सदस्य पर किया था कारबाईन से हमला
बीते साल 17 जून को प्रयागराज के थाना झूसी अंतर्गत हरिहरवन चौराहे के पास पूर्व जिला पंचायत सदस्य अशोक कुमार यादव और उनके भाई पर बलवंत और इसके साथियों ने कारबाईन और पिस्टल से अंधाधुंध गोलियां बरसाकर सनसनी मचा दी थी। ये हमला उस समय हुआ था जब पूर्व जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र में लोगों से मिलने के लिए निकले थे। हमले में अशोक यादव का गनर घायल हुआ था बाकि सभी बालबाल बच गये थे। इस वारदात को अंजाम देने के लिए 50 हजार की सुपारी ली थी।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल