चंद रूपये के लिए महिला को देह व्यापार में धकेला, दोस्त बनकर 50 हजार में बेचा, चार गिरफ्तार

 


एसपी सिटी की गठित टीम ने दबोचा, कड़ाई से हुई पूछताछ तो बक दिया सब



रवि प्रकाश सिंह


वाराणसी। गरीब, बेबस और लाचार महिलाओं को अपने जाल में फंसाने और फिर अनैतिक देह व्यापार में औने पौने दाम पर बेचने वाले चार शातिरों को लालपुर-पांडयेपुर थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस ने गिरफ्तार लोगों के धंधे से जुड़ी अन्य जानकारी इकठ्ठा कर रही है। आरोपियों ने महिला को महज 50 हजार के लिए देह व्यापार में झोंक दिया था। मामला प्रकाश में आने और मुकदमा दर्ज होने के बाद एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी ने चार लोगों की एक टीम गठित कर आरोपियों को जल्द पकड़ने का निर्देश दिया था। सौदेबाजी में दो महिलाएं भी शामिल रहीं। गिरफ्तार अभियुक्तों की पहचान नवीन जायसवाल, सुनीता उर्फ सविता, राजकुमार, रीता उर्फ गीता और के रूप में हुई। महिला को रामकृपाल के हाथों बेचा गया था।


एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि  देह व्यापार में धकेलने के लिए ये गरीब, लाचार और बेबस महिलाओं को निशाना बनाते हैं। काम का लालच देकर योजनाबद्ध तरीके से  किसी दूसरे प्रदेशों और शहरों  में बेच देते हैं ताकि इसकी भनक किसी को न लगे। इन सभी का एक गिरोह है। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि इस काम के लिए उन्हें कुछ ही समय में ज्यादा पैसा मिल जाता था।  चारों  ने नई बस्ती पाण्डेयपुर की रहने वाली एक महिला को निशाना बनाया। गिरोह के नवीन जायसवाल ने उक्त महिला को  फुसलाकर पंचकोशी के पास कमरा दिखाने के लिये ले गया। यहां सुनीता से महिला की दोस्ती कराई। नवीन उससे लगातार फोन पर बात करता था।  जिससे उसके पति रंजीत से उसका अक्सर झगड़ा होता रहता था । महिला अपने पति से नाराज होकर सुनीता के साथ रसूलगढ़ सारनाथ में रीता के घर पर चली गयी।


 फिर उन दोनों महिलाओं के साथ सारनाथ मंदिर गयी। यहीं से उसे बेचने की तैयारी शुरु हो गई और महिला को भनक तक नहीं लगी। यहां राजकुमार  के साथ महिला का खरीददार रामकृपाल यादव और कुछ साथी मौजूद थे। महिला को शाहजहांपुर में काम दिलवाने के नाम पर गाड़ी में बैठाकर बरूआरी थाना जलालाबाद शाहजहांपुर लेकर आया।   रामकृपाल ने महिला के मांग में सिंदूर डाल दिया ताकि उसे रास्ते में कोई दिक्कत और किसी को शक न हो। यहां महिला का कई दिनों तक शोषण किया। विरोध करने पर रामकृपाल कहता था मैने तुझे 50 हजार में खरीदा है। पुलिसिया पूछताछ में रामकृपाल ने कहा इस काम में उसके कुछ साथी भी शामिल है। हमलोग लड़कियों और औरतों को पैसे के बदले दूसरे प्रदेशों में बेचने और शादी कराने का काम करते हैं।गिरफ्तार नवीन जायसवाल रौनाखुर्द थाना चोलापुर,  रामकृपाल यादव बरूआरी थाना जलालाबाद जनपद शाहजहापुर, झब्बू निवासी अतिबरा थाना जलालाबाद जनपद शाहजहापुर और रीता उर्फ गीता निवासी रसूलगढ़ सारनाथ निवासी है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल