बसपा विधायक उमाशंकर सिंह ने कोरोना से जंग हारने वाले इंस्पेक्टर के पैतृक घर पहुंचकर की आर्थिक मदद


जनसंदेश न्यूज़
चंदौली। विधायक उमा शंकर सिंह ने कोरोना से जंग हारने वाले इंस्पेक्टर अजय सिंह के निधन के बाद उनके पैतृक गांव कि चनहटा (खुरहुजा) जिला चंदौली स्थित घर जाकर उनके परिवार से मिले एवं उनके पिताजी के सामने इंस्पेक्टर अजय सिंह के बड़े बेटे सूर्य प्रताप सिंह (14 साल) को दो लाख रूपए की आर्थिक मदद की है। विधायक ने उनके परिवार को ये भी भरोसा दिलाया कि बच्चों की पढ़ाई लिखाई में कोई कमी महसूस नही होने दिया जाएगा।


आपको बता दें कि उमाशंकर बलिया की रसड़ा विधान सभा सीट से बसपा विधायक हैं। यह वहीं अजय सिंह हैं, जिनके निधन के बाद जब उनका बैंक खाता देखा गया तो मात्र 900 रूपए ही निकले और पता चला कि पीएफ खाते से भी लोन ले रखे हैं। अजय सिंह एसओजी, एसटीएफ व इलाहाबाद में तैनात रहे। कोरोना के समय अजय सिंह प्रतापगढ़ में तैनात थे। उमा शंकर सिंह ने शनिवार को उनके पैतृक गांव चंदौली में जाकर अजय सिंह के परिवार को दो लाख रूपए की आर्थिक मदद की है।


यह भी बता दें कि इससे पहले भी विधायक उमा शंकर सिंह ने पत्रकार रतन सिंह, जिनकी कुछ दिन पहले गोली मार कर हत्या कर दी गई थी के घर पहुंच कर दो लाख रूपए की आर्थिक मदद की थी।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल