आतंकियों से लोहा लेते जौनपुर का लाल शहीद, बुझ गया घर का इकलौता चिराग


जनसंदेश न्यूज़
जौनपुर। जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र के इजरी निवासी कांता यादव के पुत्र जिलाजीत यादव(25) पुलवामा में मंगलवार की रात आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए।जनपद के लाल आरआर 53 बटालियन में सिपाही के पद पर तैनात थे। 
मंगलवार की रात लगभग 2 बजे पुलवामा में  मुठभेड़ शुरू हो गयी जिसमें वह शहीद हो गए। उनके एक साथी को भी गोली लगी है। इस मुठभेड़ में एक आतंकी को भी मार गिराया है। सुबह जवान के शहादत की खबर मिलते ही गांव में कोहराम मच गया। जिलाजीत की तीन वर्ष पहले शादी हुई थी। उनका एक साल का बेटा भी है। वहीं, शहीद के पिता का दो वर्ष पहले निधन हो गया था। जिलाजीत अपने पिता के इकलौते बेटे थे।


Popular posts from this blog

'चिंटू जिया' पर लहालोट हुए पूर्वांचल के किसान

कुशवाहा कांतःअनुभूतियों में हमेशा जिंदा रहेंगे कालजयी साहित्य के अमर शिल्पी

सेक्स पावर बढ़ाती है गोरखमुंडी, जानिए इसके सेवन का तरीका और फायदा