विधायक मंत्री हो गये और हम उम्मीद लगाये बैठे हैं, कमिश्नर ने देखा ‘विकास’ का सच!


जनसंदेश न्यूज़
चितबड़ागांव/बलिया। फेफना विधानसभा हमेशा से ही प्रदेश की राजनैतिक सुर्खियो में रहा है। चाहे वह मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव की सरकार रही हो या फिर योगी जी की। तीनो सरकारों में यहां के विधायक मंत्री रहे। फिर भी अधिकतर गांव की तस्वीर नही बदल पाई। कारण जो भी रहा हो, लेकिन आज भी गांव के लोगो को सरकार से उम्मीद बनी है।
शुक्रवार को आजमगढ़ मंडल के कमिश्नर विजय विश्वास पंथ ने मानपुर गांव का अचानक निरीक्षण किया। जब गांव के अंदर जाने वाली मुख्य सड़क पर पहुंचे तो उन्हें बड़ा संभल कर चलना पड़ा। वह गांव में पहुंचे और वहाँ लगभग 45 मिनट तक समय बिताया। करीब 30 लोगो से बातचीत भी की और विकास का सच देखा।



लोगों का टम्परेचर भी चेक नही किया
बलिया। साहब कोरोना संक्रमण से हम कैसे बचें। यहां कोई दवा का छिड़काव भी नही हुआ। फागिंग भी नही हुई। गांव के लोगो का टँप्रेचर भी नही चेक किया गया। किसी को राशन मिला तो किसी को नही। मकान विहीन लोगो की 154 परिवारों की सूची बनी, लेकिन अभी भी लोगो को आवास नही मिला।


चितबड़ागांव के दो वार्डो का भी किया निरीक्षण
चितबड़ागांव नगर पंचायत के वार्ड नं. 7 अब्दुल कलाम नगर और वार्ड नं. 3 पटेल नगर के निरीक्षण में भी विकास की तस्वीर कुछ धूमिल नजर आयी। उन्होंने ईओ साहब की जमकर क्लास भी लगायी।



क्या कहा वार्ड के लोगों ने 
साहब पटेल नगर में जल निकासी की व्यवस्था न होने के कारण आज भी 75 एकड़ जमीन जलमन्न है। एक वर्ष से हम लोग परेशान है। कमिश्नर साहब ने एसडीएम सदर को आदेश देते हुए समस्या का समाधान करने को कहा। अब्दुल कलाम नगर में पिछले वर्ष बनी सड़क खराब हो गयी साहब। कारण यह रहा कि जब सीसी रोड बनी तो कुछ दिन बाद आवागमन शुरु हो गया,  जिससे सड़क बनते ही क्षतिग्रस्त हो ग


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल