शरीर पर 20 किलो सोना और दर्जनों लग्जरी वाहनाें के साथ कांवर यात्रा निकालने वाले गोल्डेन बाबा का देहांत

सुरक्षा में हर वक्त तैनात रहते थे 4 चार गार्ड



जनसंदेश न्यूज़
नई दिल्‍ली। शरीर पर 20 किलो सोना और दर्जनों लग्जरी गाड़ियों का लंबा काफिला, कांवर यात्रा में अपने शाही रूतबे के कारण चर्चा में आये गोल्डेन बाबा का देहांत हो गया। कैंसर की लंबी बिमारी के बाद मंगलवार की देर रात दिल्ली एम्स में उन्होंने आखिरी सांस ली। शरीर पर भारी भरकम सोने पहने होने के कारण हर समय इनके साथ चार गार्ड सुरक्षा में तैनात रहते थे। 
गोल्डन बाबा का असली नाम सुधीर कुमार मक्कड़ है। पिछले गई सालों से ये गाजियाबाद के इंदिरापुरम की जीसी ग्रैंड सोसाइटी में रहते थे। हर साल हरिद्वार से दर्जनों लग्जरी वाहनों के साथ ये कांवर यात्रा निकालते थे। संन्यासी बनने से पहले सुधीर कुमार मक्कड़ दिल्ली में गारमेंट्स का कारोबार करते थे। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया कि अपने पापों का प्रायश्चित करने के लिए वें गोल्डन बाबा बन गए। गांधी नगर के अशोक गली में गोल्डन बाबा का आश्रम है। जीसी ग्रैंड सोसाइटी के अध्यक्ष अमरीश गर्ग ने बताया कि सोसाइटी के लोगों को आज सुबह ही उनके निधन की सूचना मिली है। फिलहाल उनके फ्लैट में ताला लगा है।
आपको बता दें कि गोल्डेन बाबा के नाम से मशहूर सुधीर कुमार मक्कड़ को 1972 से ही सोना पहनना काफी पसंद था। गोल्डन बाबा हर साल कई किलो सोना पहनकर और लग्जरी कारों के साथ कांवड़ यात्रा भी लेकर निकलते थे। 2018 में 21 लक्जरी कारों और 20 किलो सोने के साथ कांवड़ यात्रा के लिए निकाले थे।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल