‘कहत हनुमान जय श्री राम’ में भगवान शिव के छह अवतारों को निभाएंगे राम यशवर्धन



जनसंदेश न्यूज़
इंदौर। अभिनय करना कोई आसान काम नहीं है। हम में से कई लोगों को इस इंडस्ट्री की चमक-धमक और ग्लैमर यहां आने के लिये आकर्षित करता है, लेकिन एक भूमिका के पीछे जो तैयारियां करनी पड़ती है वो वाकई में मुश्किल काम है। यह काम तब और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता है, जब किसी कलाकार को कई किरदारों में खुद को ढ़ालना पड़ता और सभी के साथ समान रूप से न्याय करना पड़ता है। ऐसे ही एक प्रतिभाशाली अभिनेता हैं- हमारे अपने राम यशवर्धन, जो अभी एण्ड टीवी के शो ह्यकहत हनुमान जय श्री रामह्य में महादेव की भूमिका में नजर आ रहे हैं। 
राम जल्द ही भगवान शिव के एक नहीं बल्कि छह अलग-अलग अवतारों को पर्दे पर साकार करते हुए दिखेंगे। इस शो में भगवान शिव के छह अलग-अलग अवतारों को निभाने के लिए 48 घंटे तक का कठिन तांडव नृत्य का अभ्यास करने का धैर्य, जुनून और कड़ी मेहनत आज टीवी इंडस्ट्री में देखने को मिलती है। शो के नए एपिसोड्स में राम यशवर्धन भगवान शिव के उग्र वीर भद्र अवतार, बुद्धिमान ऋषि पिप्लाद अवतार, खानाबदोश यतिनाथ अवतार, क्रोधी अवधूत अवतार, परोपकारी भिक्षुवर्य अवतार और तुनमिजाजी दुर्वासा अवतार  दिखाई देंगे।



भगवान शिव के कई अवतारों को निभाने के बारे में बात करते हुए राम यशवर्धन ने कहा, ह्यह्यकुछ गिने-चुने लोगों को ही अभिनय की बारीकियों को इतनी गहराई से जानने का अवसर मिलता है। ह्यकहत हनुमान जय श्री रामह्य में भगवान शिव के अलग-अलग अवतार को निभाने के अनुभव ने मेरे अंदर के कलाकार को जगा दिया है, जिसका मुझे भी नहीं पता था। 
मौजूदा दौर में बहुत मुश्किल से किसी को भगवान शिव जैसे शक्तिशाली पौराणिक किरदार को निभाने का मौका मिलता है। मैं खुद को बहुत ही भाग्यशाली मानता हूं कि मैं अभिनय के क्षेत्र में इतना कुछ जानने में सक्षम हुआ, जहां मैं महादेव का किरदार निभा रहा हूं और मुझे उनके छह अलग अवतारों को निभाने का अवसर मिला है। सच कहूं तो यह चुनौतीपूर्ण है, अलग-अलग तरह के मेकअप सेशन के लिए कई-कई घंटो तक बैठना और उस गेटअप में खुद को ढालना, यह सब बिलकुल भी आसान नही है, लेकिन मैं ये सुनिश्चित करता हूं कि कैमरे के सामने आने से पहले मैं प्रत्येक अवतार की विशेषताओं को अपने अंदर समेट लूं। 
उन्होंने आगे कहा कि सबसे चुनौतीपूर्ण हिस्सा है, पर्दे पर हर अवतार को बिल्कुल सही तरीके से साकार करना। एक ओर जहां शिव जी का पिप्लाद अवतार एक वैदिक ऋषि का है जो विनम्र और शांतिपूर्ण है, वहीं दूसरी ओर, उनका दुवार्सा अवतार बहुत ही गर्म दिमाग वाला है तथा उनका वीरभद्र अवतार भयावह और उग्र है। इसी तरह इन सभी किरदारों का लुक भी बिल्कुल अलग-अलग है। सभी अवतार एक दूसरे से विपरीत और शानदार है। 



इन किरदारों को पर्दे पर देखने के बाद आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि इन्हें पर्दे पर उतारने के लिये मैंने कितनी मेहनत और तैयारी की होगी। मैं बेहद खुश हूं कि मुझे हर एक किरदार को बेहतरीन ढंग से निभाने का मौका मिला। वो अवतार जिससे मैं सबसे ज्यादा जुड़ा हुआ हूं वो है भिक्षुवर्य अवतार। वह सभी मनुष्यों के रक्षक के रूप में जाने जाते हैं। वह दयालु और करुणामयी हैं और इन सभी अवतारों में सबसे अधिक सशक्त अवतार है। यह मेरे कॅरियर का अब तक का सबसे समृद्ध और ज्ञानवर्धक अनुभव है। 
कहत हनुमान जय श्री राम में भगवान हनुमान के कई अनछुए पहलुओं को दशार्या गया है। भगवान विष्णु के धरती पर भगवान राम के रूप में अवतरित होने के बाद, भगवान शिव ने भी भगवान राम के दुष्ट रावण को हराने के उद्देश्य और उनकी  सेवा करने के लिए भगवान हनुमान का रूप धारण किया। भगवान हनुमान भगवान शिव के ग्याहरवें रूद्र अवतार हैं। 
मौजूदा एपिसोड्स में, अंजनी माता (स्नेहा वाघ) बाल हनुमान को कहानी सुनाती हुई नजर आ रही हैं ताकि वह हर अवतार की शक्तियों को अच्छे से समझ सकें और अपने उद्देश्यों को पूरा कर सकें। दर्शकों को शो में भगवान शिव की अनसुनी कहानियों को जानने और अजेय दुष्ट रावण की एक झलक पाने का मौका मिलेगा। दर्शक देखेंगे कि कैसे बाल हनुमान, भगवान राम के सबसे बड़े भक्त बनें और रावण के आतंक का खात्मा करने में उनकी मदद की।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल