बनारस के युवक ने ऑनलाइन साइट पर दोस्ती के बाद शादी का झांसा देकर छत्तीसगढ़ में किया दुष्कर्म

मामला न्यायालय में लेकिन पीड़ित पक्ष अब चला रहा मुहिम


आरोपी वाराणसी का, दो महीने जेल के बाद मिली है बेल 



रविप्रकाश सिंह
वाराणसी। शादी के लिए ऑनलाइन साइट पर रजिस्ट्रेशन कराना है तो सर्तकता जरूरी है। साथ ही इस बात की भी तस्दीक कर लेना चाहिए कि जिस किसी से सहमति बन रही है उसका वास्तविक प्रोफाइल क्या है। क्योंकि ऐसे कई ममाले सामने सुनने और देखने को मिल जायेंगे कि शादी के ऑनलाइन साइट पर फेस प्रोफाइल, आईडी और गलत जानकारी देकर सामने वाला भोली भाली लड़कियों को झांसे में लेते हैं और उसके बाद मकसद पूरा होने पर उसे छोड़ फरार हो जाते हैं। ऐसा ही मामला महिला रायपुर छत्तिसगढ़ में यहां चिकित्सक को शादी का झांसा देकर उससे दुष्कर्म किया गया। वाराणसी से इसके तार इस लिए जुड़े कि इस हाई प्रोफाइल मामले में आरोपी कहीं और का नहीं बल्कि वाराणसी का है। मुकमदा दर्ज होने के बाद उसकी गिरफ्तारी हो चुकी है। फिलहाल वो जमानत पर है। 
मामला कोर्ट में विचाराधीन है लेकिन अब पीड़ित परिवार ने उसके खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है। बीते दिनों शहर में पीड़ित परिवार आया था और अपने जानने वालों के माध्यम से आरोपी के खिलाफ अभियान चलाया। पीड़ित पक्ष का कहना है कि उनके पर जो बीती है वो किसी और पर ना बीते। मामला छत्तिसगढ़ में पेंडिंग है इस बाबत फैसला क्या आयेगा ये बाद की बात होगी है। लेकिन पीड़ित पक्ष अब इस मुद्दे का आरपार की लड़ाई बनाने की सोच लिया है। 


क्या है पूरा मामला
महिला चिकित्सक ने ऑनलाइन साइट पर शादी का रजिस्ट्रेशन कराया था। आरोप है कि  इस दौरान बेंगलरू के एक युवक ने चिकित्सक से संपर्क साधा और शादी करने का झांसा देकर रायपुर तेलीबांधा के एक होटल में शादी की बात पक्की करने और मौका का फायदा उठाकर नशीला चॉकलेट खिलाक र दुष्कर्म किया। इस दौरान उसने आपत्तिजनक वीडियो भी बनाये और बाद में वायरल करने की धमकी दी। 
तहरीर के आधार पर देखा जाय तो महिला चिकित्सक ने 25 मार्च 2018 से 21 जुलाई 2019 के बीच कराया था। इस बीच वह महिला से बराबर संपर्क में रहा। शादी से टाल मटोल करने पर महिला चिकित्सक इस विषय को लेकर गंभीर हुई और शादी का दबाव बनाना शुरु हुआ। इस बीच कहीं से जानकारी मिली की उक्त् युवक दूसरी शादी कर चुका है। पीड़िता ने इस मामले में जनवरी 2020 मेें रायपुर के तेलबांधा थाने में इसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। पुलिसिया जांच पड़ताल में पता चला कि उक्त युवक बेंगलरू का नहीं बल्कि वाराणसी के रोहनियां ग्राम अमरा खैराचक का रहने वाला है। पुलिस ने उसे दो मार्च 2020 में गिरफ्तार किया। 16 मार्च तक न्यायिक अभिरक्षा में रहा। पुलिसिया जांच में उसकी पहचान कमलेश कुमार पटेल उम्र 33 साल के रूप में हुई। अब पीड़ित पक्ष इस मामले में आरोपी को एक्सपोज करने का वीणा उठाया है ताकि कोई और लड़की झांसे में न आये। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल