बाप और भाई ने किशोरी को लाठी, डंडा, बेल्ट से इतना पीटा कि हो गई मौत, कसूर सिर्फ इतना था कि.......

प्रेमी से मिलने जाने के कारण आगबबूला हुए थे बाप-भाई



जनसंदेश न्यूज़
लखनऊ। यूपी के प्रतापगढ़ में आनर किलिंग का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। एक किशोरी को उसके पिता और भाई ने ही पीट-पीटकर कर मौत के घाट उतार दिया। पिता ने अस्पताल ले जाकर इसको दुष्कर्म के बाद हत्या का रूप देने के बाद का प्रयास किया, लेकिन पुलिस से हुए कड़ाई से पूछताछ में सच्चाई से पर्दा उठ गया। किशोरी का कसूर सिर्फ इतना था कि वह अपने प्रेमी से मिलने गई थी। 
प्रतापगढ़ के कंधई थाना क्षेत्र के चौपई गांव में निवासी किशोरी कंसापुर (जगेसरगंज) में रहकर पढ़ाई करती थी। सप्ताह भर पहले ही वह आई थी। सोमवार की रात जब घर के सभी सदस्य सो गये तो वह चुपके से उठकर अपने प्रेमी से मिलने चली गई। परिवार वालों ने काफी ढूंढ़ा पर उसका पता नहीं चला। मंगलवार की सुबह किशोरी घर लौट आई। 
जहां उसे सख्ती से पूछा गया तो वह घर वालों को सच बता दिया कि वह अपने प्रेमी से मिलने गई थी। इतना सुनते ही पिता-पुत्र आगबबूला हो गये और युवती को लाठी-डंडे और बेल्ट से खूब पिटाई कर दिया। निर्दयी बाप-भाई ने इतना पीटा किया किशोरी मरणासन्न हो गई। जिसके बाद वें उसके लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां डाक्टरों ने उसे रेफर कर दिया, लेकिन जिला अस्पताल पहुंचने के लिए पहले ही उसने दम तोड़ दिया। 
इसके बाद घरवाले नाटक करने लगे और रोते हुए बताया कि उसकी बेटी घर से शौच के लिए निकली थी, तभी गांव का एक युवक उसे घसीट ले गया और दुष्कर्म कर पिटाई करने के बाद उसे मरणासन्न हालत में यूकेलिप्टस के जंगल में छोड़कर भाग निकला। पुलिस मामले की जांच कर रही थी। इसी संबंध में जब पुलिस को शक हुए तो उसने किशोरी के भाई से कड़ाई के साथ पूछताछ की तो वह टूट गया और सारा राज उगल दिया। 
जिसके बाद मौके पर पहुंचे सीओ पट्टी रमेशचंद्र, पट्टी कोतवाल नरेंद्र सिंह और कंधई एसओ विपिन कुमार सिंह फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। मृतका के भाई सहित दो लोगों को हिरासत में लेकर हत्या में प्रयुक्त लाठी-डंडा, बेल्ट बरामद कर लिया गया है। सीओ पट्टी रमेशचंद्र ने बताया कि मामला ऑनर किलिंग का है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल