अधिशासी अधिकारी ने फांसी लगाकर दी जान, सुसाइड नोट व कॉल डिटेल से जांच में जुटी पुलिस


डीएम-एसपी के साथ ही फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची

जनसंदेश न्यूज़
बलिया। शहर कोतवाली क्षेत्र के आवास विकास कालोनी में सोमवार की देर शाम पीसीएस अधिकारी मणि मंजरी ने फांसी लगाकर जान दे दी। वह मनियर नगर पंचायत में अधिशासी अधिकारी के पद पर तैनात थी। सूचना मिलते ही डीएम श्रीहरि प्रताप शाही व एसपी देवेन्द्र नाथ के साथ ही फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंच गई। पुलिस को मौके से सुसाइड नोट भी मिला है, जिसके सहारे पुलिस अधिशासी अधिकारी की आत्महत्या की वजह जानने की कोशिश में जुटी है। पुलिस के लिए ईओ की आत्महत्या रहस्य बना हुआ है।
गाजीपुर जनपद के भांवरकोल निवासी मणि मंजरी राय (30) की तैनाती करीब दो साल पहले मनियर नगर पंचायत में ईओ पद पर हुई थी। वह, शहर कोतवाली के आवास विकास कॉलोनी में किराये की मकान में रहती थी। सोमवार को वह घर में अकेले ही थी। उनके फ्लैट के बगल वाले फ्लैट में रहने वाली एक महिला को ईओ के कमरे की खिड़की के शीशे से कुछ हिलता हुआ दिखाई दिया। आस-पास के लोगों को किसी अनहोनी की आशंका हुई। उसके बाद किसी ने पुलिस को इसकी सूचना दी। दरवाजा तोड़कर पुलिस पहुंची तो बेड के ऊपर ही फंदे पर मणि मंजरी राय की लाश लटक रही थी। 
पुलिस अधीक्षक ने तत्काल फॉरेंसिक टीम बुलाई। जांच पड़ताल के बाद शव को नीचे उतारा। देर रात तक डीएम-एसपी मौके पर थे। वहीं, इसकी सूचना मिलते ही संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन कुमार जैन व अन्नपूर्णा गर्ग के अलावा सदर तहसीलदार शिवसागर दुबे, नायब तहसीलदार जया सिंह, ईओ बांसडीह सीमा राय, ईओ सिकंदरपुर संजय राव समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पुलिस सुसाइड नोट व कॉल डिटेल के साथ ही हर एंगल पर जांच कर रही है।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल