सचिव का फर्जी हस्ताक्षर कर पैसे निकालने वाले प्रधान पर जब चारों तरफ से कसा शिकंजा तो बैंक जाकर......


प्रधान ने बैंक जाकर फर्जी हस्ताक्षर कर निकाले पैसे किया जमा

जनसंदेश न्यूज़
करछना/प्रयागराज। गांव के विकास के लिए आए सरकारी धन को अपनी जागीर समझ कर फर्जी हस्ताक्षर बना कर पांच लाख रुपये का फ्राड करने वाला प्रधान ने गर्दन फंसती देख सरकारी पैसे बैंक में जमा कर दी। 
बता दें कि विकास खंड करछना के अंतर्गत आने वाले गाँव रैपुरा के प्रधान प्रभा कान्त प्रजापति ने गत दिनों गांव में शौचालय बनाने के लिए सरकारी ज्वाइंट खाते में से सचिव का फर्जी हस्ताक्षर बना कर पांच लाख पांच हजार रुपये बडौदा बैंक से निकाल लिया था। जिसकी जानकारी सचिव अब्दुल वारी को हुई तो वह बैंक मैनेजर की मिली भगत से फर्जी हस्ताक्षर बना कर पांच लाख पांच हजार रुपये निकाल कर फ्राड करने का आरोप प्रधान प्रभा कान्त प्रजापति व बैंक मैनेजर को आरोपित किया था। सचिव ने जालसाजी के आरोप में मुकदमा दर्ज कराये जाने के लिए कार्रवाई की गयी थी। उधर खंड विकास अधिकारी व पंचायत अधिकारी एडीओ गायत्री प्रसाद मिश्र ने भी ग्राम प्रधान के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा पढी कीं थी। उन्होंने प्रधान के दो दिनों का समय देते हुए फर्जीवाड़ा किये पैसे को जमा कराने का निर्देश दिया था। चारों तरह से अपनी गर्दन फंसती देख प्रधान डर गया और बैंक में जाकर फर्जी हस्ताक्षर बना कर निकाली गई रकम पांच लाख पांच हजार रुपये जमा कर दी, तब जाकर विभागीय अधिकारियों ने राहत की सांस ली। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल