साली के साथ तीन साल तक बनाता रहा शारीरिक संबंध, शादी से इनकार, मिली धमकी तो हुआ तैयार


थाने में मुकदमा दर्ज की धमकी के बाद दूल्हा हुआ तैयार 

जनसंदेश न्यूज़
मरदह/गाजीपुर। थाना क्षेत्र स्थित कोड़री गांव के उपेन्द्र राम का प्रेम विवाह रविवार को थाने में पंचायत के बाद मऊ जिले के खण्डेरायपुर बगली पिजड़ा गांव की कुमारी रिंकू के साथ स्थानीय संत रविदास मंदिर परिसर में सम्पन्न हुआ। दरअसल, प्रेमिका ने इसके खिलाफ थाने में तहरीर दी कि तीन साल से शादी के नाम पर शारीरिक संबंध बनाता रहा। इसके बाद थाने में पंचायत के बाद इनका विवाह हुआ। इस खबर की क्षेत्र में काफी चर्चा बनी रहीं। 
थाना क्षेत्र के कोड़री गांव निवासी उपेन्द्र राम पुत्र रामलाल राम का प्रेम मऊ जनपद के रानीपुर थाना क्षेत्र के खण्डेरायपुर बगली पिजड़ा गांव निवासी कुमारी रिंकू पुत्री राजनाथ से तीन वर्षों से चल रहा था। इस दौरान दोनों का शारीरिक संबंध हो गया था। दरअसल, प्रेमी के बड़े भाई लल्लन राम कि शादी भी इसी परिवार में हुई है। रिश्ते में रिंकू कुमारी लल्लन की साली लगती है। इस वजह से भाई के ससुराल में आना जाना लगा रहता था। इसी बीच दोनों के बीच आंखे चार हुई और देखते ही देखते प्यार में बदल गया।  
दोनों ने एक साथ जीने मरने की कसमें खाते हुए शारिरीक संबंध स्थापित कर लिया। शादी से पहले ही प्रेमिका ने अपने प्रेमी को पति मानकर सब कुछ न्यौछावर कर दिया। धीरे-धीरे यह बात दोनों परिवारो के परिजनों में पहुँची। लड़की पक्ष वाले शादी के लिए लड़के के परिजनों पर दबाव बनाया तो वह मुकर गये। फिर क्या प्रेमिका अपनी बहन मां के साथ थाने धमकी और नामजद तहरीर अपने कथित पति के खिलाफ थाने में दी। बताया कि शादी का झांसा देकर तीन साल से दुष्कर्म कर रहा था। खबर कि जानकारी होते ही पूरे क्षेत्र में सनसनी मच गयी। 
दोनों के परिजनों को थाने में बुलाया गया। इसके बाद युवक व युवती दोनों के परिजनो की सहमति के साथ थाना से कुछ दूरी पर स्थित संत रविदास मंदिर परिसर में प्रेम विवाह संपन्न कराया। मौके पर समाजसेवी दमन सिंह, मनोज कुमार, हरिकेश राम, जोखू राम, विनय सागर, राजेश राम, गुरूचरण दास, राकेश कुमार, राजेन्द्र, विरेन्द्र, देवेन्द्र, रामलखन आदि लोग मौजूद रहे।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल