प्रधान ने सचिव का फर्जी हस्तारक्षर बनाकर बैंक से पांच लाख निकाले, विभाग में हड़कंप



जनसंदेश न्यूज़
करछना/प्रयागराज। विकास खंड करछना के अंतर्गत ग्राम पंचायत रैपुरा के प्रधान प्रभाकान्त प्रजापति द्वारा फ्राड का एक बड़ा मामला सामने आया है। प्रधान ने ग्राम विकास अधिकारी का फर्जी हस्ताक्षर बना कर चार बार में बैंक से पांच लाख पांच हजार रुपये निकाल लिया। मामला प्रकाश में आते ही विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। 
करछना ब्लाक के रैपुरा गांव के विकास के लिए सरकारी पैसा आया था। जिसको गांव के प्रधान बिना किसी कार्य योजना के ग्राम विकास अधिकारी अब्दुल वारी का फर्जी हस्ताक्षर बना कर पांच लाख पांच हजार रूपये निकाल लिये। मड़वा स्थित बडौदा बैंक से एक जून से सत्रह जून के बीच चेक के माध्यम से चार बार में यह पैसा ग्राम प्रधान द्वारा निकाला गया। जिसमें सभी चेक एके ईट भठ्ठा मालिक के नाम से बैंक द्वारा कैस कराये गये है।
इसकी जानकारी जब सचिव ग्राम विकास अधिकारी अब्दुल वारी को हुई तो उसने बैंक के शाखा प्रबंधक से फर्जी हस्ताक्षर बना कर रैपुरा प्रधान ने जालसाजी की जानकारी शाखा प्रबंधक को दी। इसकी जानकारी होते ही बैंक मैनेजर पसीने-पसीने हो गया, और भागता हुआ प्रधान के घर पहुंच गया, लेकिन गांव का प्रधान प्रभाकान्त प्रजापति घर से फरार हो गया है कि जानकारी होने पर बैंक मैनेजर की भी हालत खराब हो गयी।
उधर इसकी जानकारी एडीओ पंचायत अधिकारी गायत्री प्रसाद मिश्र को हुई तो सरकारी पैसे का दुरुपयोग न हो सके इसके लिए उन्होंने ने तीन सदस्यीय समिति को प्रधान के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा पढी की। और उन्होंने बताया कि फर्जी हस्ताक्षर बना कर प्रधान ने जो पैसा बैंक से निकाल लिया है उसे दो दिन के अंदर सरकारी पैसा बैंक में नहीं जमा कर देता है तो उसके खिलाफ सरकारी पैसे के गमन करने का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। हालांकि इस मामले में बैंक मैनेजर से लेकर जिम्मेदार अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल