जन अधिकार पार्टी ने एएसआई के मौत की उच्चस्तरीय जांच करने की उठाई मांग  


परिवार को पचास लाख,एक सदस्य को सरकारी नौकरी

जनसंदेश न्यूज़
कठवामोड़/गाजीपुर। जन अधिकारी पार्टी ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में तैनात एएसआई की साजिश के तहत हत्या का आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री से उच्चस्तरीय जांच कराकर हत्या की खुलासा करने की मांग किया है।
पुलिस अधीक्षक कार्यालय में  तैनात गणेश प्रसाद मौर्य एएसआई ने बीते शुक्रवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया था। उनका शव कोतवाली क्षेत्र के शास्त्रीनगर स्थित मकान में फांसी के फंदे पर लटकता मिला। इस घटना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। वहीं  इस घटना के बाद परिवार वालों ने किसी साजिश के तहत हत्या की आशंका जाहिर कर मुख्यमंत्री से उच्चस्तरीय जांच कराकर हत्या की खुलासा करने की मांग किया। 
इधर जन अधिकार पार्टी मिजार्पुर मंडल अध्यक्ष भागीरथी सिंह मौर्य ने भी मुख्यमंत्री सहित पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश, पुलिस अधीक्षक गाजीपुर एवं मिजार्पुर से लिखित रूप से पत्र भेजकर जांच की मांग किया। मंडल अध्यक्ष ने पत्र में एएसआई गणेश मौर्य की हत्या की आशंका जाहिर करते हुए उच्चस्तरीय जांच कर घटना का खुलासा कर दोषियों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई करने के साथ ही पीड़ित परिवार को पचास लाख रूपए और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का अनुरोध किया।  
बता दें कि मृतक गणेश मौर्य मिर्जापुर जिले के पड़री थाना क्षेत्र के निवासी थे। वह मुरादाबाद जिले से सिपाही (लिपिक) की ट्रेनिंग लेने के बाद विगत 15 मई को जनपद में आए थे। विगत 18 मई से शहर कोतवाली थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर स्थित शशि शेखर श्रीवास्तव के मकान में किराए पर रहते थे। शुक्रवार की देर रात कमरे में फांसी के फंदे में शव लटकता मिला था। फिलहाल घटना को पुलिस आत्महत्या मानकर चल रही थी। इसके साथ ही घटना के पीछे क्या कारण है यह पता लगाने में जुटी हुई है।


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल