भाजपा विधायक और चेयरमैन समर्थकों के बीच जमकर मारपीट, कोटा विवाद को लेकर तहसील में हुई घटना, चार घायल


चेयरमैन प्रतिनिधि के खिलाफ मुकदमा दर्ज

जनसंदेश न्यूज़
बलिया। भाजपा विधायक और चेयरमैन समर्थकों के बीच तहसील परिसर में जमकर झड़प हो गया। मामले ने इतना तूल पकड़ लिया कि दोनों पक्षों की तरफ से जमकर हाथापाई हो गई। जिसमें दोनों पक्षों के चार लोग घायल हो गये। सरकारी सस्ते गल्ले को लेकर हुए विवाद में चेयरमैन प्रतिनिधि के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया गया है। दूसरी तरफ भाजपा विधायक के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराने हेतु तहरीर दी गई है। 
भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह और सांसद विरेन्द्र सिंह मस्त के बीच बैरिया सुदिष्ट बाबा के पशु मेला की भूमि में फर्जीवाड़ा का विवाद अभी ठंडा नहीं हुआ था कि इसी बीच बुधवार को विधायक और सांसद के भांजे विनय सिंह आमने-सामने हो गये। बताया जा रहा है कि एक राशन की दुकान को लेकर विधायक और चेयरमैन शांति देवी के बीच तनातनी है। जानकारी के अनुसार नगर पंचायत अध्यक्ष शान्ति देवी की शिकायत पर कलावती देवी की राशन दुकान वर्ष 2018 में निरस्त हो गई। मामला आजमगढ़ मंडलायुक्त न्यायालय तक गया। मामले की सुनवाई करते हुए मंडलायुक्त ने आपूर्ति विभाग को निर्देश दिया कि दुकानदार कलावती देवी के प्रार्थना पत्र को ध्यान में रखते हुए दुकान की पुनः जांच की जाए और कार्ड धारकों के बयान के बाद उचित निर्णय लिया जाए। 
मंडलायुक्त के आदेश के तहत शिकायतकर्ता नगर पंचायत अध्यक्ष शान्ति देवी के पुत्र शिवकुमार वर्मा व दुकानदार के पति विजय यादव सहित दोनों पक्ष कार्डधारकों को लेकर बयान दिलवाने के लिए तहसील पहुचे थे। बताते हैं कि पूर्ति निरीक्षक के बयान लेने से पूर्व ही दोनों पक्षों में नोकझोक होने लगी। हालांकि किसी तरह मामला शांत हो गया। इसके बाद जांच के क्रम में दोनों पक्षों ने अपने अपने तथ्य के समर्थन में बयान दर्ज कराया।
जांच पूर्ण होने के बाद दोनों पक्षों में कहासुनी शुरू हुई, जो देखते ही देखते मारपीट में बदल गई। झड़प की घटना में दोनों पक्षों के चार व्यक्ति घायल हो गए। इस मामले में मनोज पासवान की शिकायत पर नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि मंटन वर्मा सहित नौ लोगों पर दलित उत्पीड़न, बलवा व मारपीट के आरोप की धारा में मुकदमा दर्ज हुआ है।
नगर पंचायत अध्यक्ष की तरफ से अनिल कुमार राठौर द्वारा शिकायत की गई है, जिसमें विधायक सुरेंद्र सिंह के पुत्र विद्याभूषण सिंह व उनके भतीजे चंद्रभूषण सिंह सहित 11 लोगों को आरोपित किया गया है। पुलिस शिकायत की जांच कर रही है। फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तार नही हुआ है। 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल