बलिदान दिवस पर याद किये गये पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी, भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनके रास्ते पर चलने का लिया संकल्प



जनसंदेश न्यूज़
चकिया/चंदौली। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को भारतीय जनसंघ के संस्थापक पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान दिवस मनाया। इस मौके पर चकिया नगर स्थित वार्ड नंबर 5 स्थित भाजपा जिला महामंत्री उमाशंकर सिंह के आवास पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रध्दाजंलि अर्पित की। भाजपा मंडल अध्यक्ष राघवेन्द्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान श्यामा प्रसाद मुखर्जी के राजनीतिक जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके बताए गए रास्ते पर चलने का संकल्प लिया। 
भाजपा जिला महामंत्री उमाशंकर सिंह ने कहा कि डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने स्वेच्छा से अलख जगाने के उद्देश्य से राजनीति में प्रवेश किया। डॉ. मुखर्जी सच्चे अर्थों में मानवता के उपासक और सिद्धान्तवादी थे। उन्होंने बहुत से गैर कांग्रेसी हिन्दुओं की मदद से कृषक प्रजा पार्टी से मिलकर प्रगतिशील गठबन्धन का निर्माण किया। इस सरकार में वे वित्तमंत्री बनंे। इसी समय वंे सावरकर के राष्ट्रवाद के प्रति आकर्षित हुए और हिन्दू महासभा में सम्मिलित हुए।



मंडल अध्यक्ष राघवेंद्र प्रताप सिंह संतोष ने डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के राजनीतिक जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि मुस्लिम लीग की राजनीति से बंगाल का वातावरण दूषित हो रहा था। वहां साम्प्रदायिक विभाजन की नौबत आ रही थी। साम्प्रदायिक लोगों को ब्रिटिश सरकार प्रोत्साहित कर रही थी। ऐसी विषम परिस्थितियों में उन्होंने यह सुनिश्चित करने का बीड़ा उठाया कि बंगाल के हिन्दुओं की उपेक्षा न हो। अपनी विशिष्ट रणनीति से उन्होंने बंगाल के विभाजन के मुस्लिम लीग के प्रयासों को पूरी तरह से नाकाम कर दिया। 
इस मौके पर भाजपा सेक्टर प्रभारी दिव्या जायसवाल, युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष संदीप गुप्ता आशु सहित अन्य अपने विचार रखें। कार्यक्रम में अभिषेक मिश्रा, विजय विश्वकर्मा, मनोज जायसवाल, अरविंद मोदनवाल, सारांश केसरी, शुभम मोदनवाल, प्यारे सोनकर, रवि गुप्ता, बबलू चौहान, सुशील पांडे, कृष्णानंद चौहान मौजूद रहे। 


 


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल