अवैध खनन की सूचना पर नाराज हुए मंत्री, प्रशासनिक अधिकारियों को लेकर पहुंचे घाट, फिर क्‍या?

कहा, अगर रुका नहीं तो करने व कराने वालों पर होगी बड़ी कार्रवाई


पुलिस व खनन विभाग को प्रवर्तन बढाकर नजर रखने के निर्देश

जनसंदेश न्यूज़
बलिया। अवैध खनन की खबर मिलते ही सोमवार को संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला के तेवर तल्ख हो गए। उन्होंने खनन अधिकारी समेत जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारियों को तलब किया। सबको साथ लेकर महावीर घाट पर पहुंचे और मौका मुआयना किया। मंत्री ने कड़े शब्दों में चेताया कि अगर आगे से अवैध खनन की सूचना कानों तक पहुँची और वह सही निकली तो जिम्मेदार पर  शासन स्तर से बड़ी कार्रवाई होगी।
दरअसल, समाचार पत्र आदि के माध्यम से अवैध खनन होने की जानकारी मंत्री तक पहुंची। इस पर नाराजगी जताते हुए उन्होंने तत्काल खनन अधिकारी और कुछ प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को बुलाया। लोक निर्माण विभाग के डाकबंगले में बैठक कर दो टूक समझाने के बाद महावीर घाट पर पहुंचकर मौका मुआयना किया। मंत्री ने कहा कि अवैध खनन का मामला अत्यंत आपत्तिजनक है। खासकर पुलिस और खनन विभाग को चेताया कि प्रवर्तन बढाकर इस पर कड़ी नजर रखी जाए। अगर कहीं अवैध खनन की सूचना मिलती है तो इतनी कड़ी कार्रवाई हो कि ऐसा करने वालों में भय पैदा हो जाए। 
इस दौरान अपर जिलाधिकारी रामआसरे, सिटी मजिस्ट्रेट राजेश यादव, सीओ सिटी अरुण कुमार सिंह, खनन अधिकारी डॉ योगेंद्र भदौरिया, कोतवाल विपिन सिंह के अलावा संजीव कुमार डम्पू, अभिषेक सोनी, डॉ अंजनी पांडेय, डिंपल सिंह, अनुभव सिंह, घनश्याम पांडेय, श्यामबाबू गुप्ता आदि साथ थे।


Popular posts from this blog

यूपी में होगी नौकरियों की बारिश, तीन लाख युवाओं को मिलेगी नौकरी, जानिए किस विभाग में है कितना पद खाली?

सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी में अगले तीन महीनों में सभी खाली पदों पर भर्तियां, छह महीनों में नियुक्ति के निर्देश

यूपी में नौकरियों की भरमार, अपनी दक्षता के अनुरूप जॉब तलाशेें युवा, यहां देखें पूरा डिटेल